काशीपुर। काशीपुर इंफ्रास्ट्रक्चर एंड फ्रेट टर्मिनल्स ने काशीपुर के इनलैंड कंटेनर डिपो से 26 अप्रैल को पहली एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट ट्रेन शुरु की। केआईएफटीपीएल अपोलो लॉजिसॉल्यूशंस लिमिटेड तथा इंडियन ग्लाइकॉल्स लिमिटेड का संयुक्त उपक्रम है। टेक्सटाइल राज्यमंत्री, भारत सरकार अजय टम्टा ने काशीपुर से मुंद्रा पोर्ट तक जाने वाली इस रेलगाड़ी को झंडी दिखाकर रवाना किया।

यह ऐक्जि़म ट्रेन मुंद्रा और पिपावाव जैसे सभी गेटवे/पोर्ट को सेवाएं देगी। उत्तराखंड के काशीपुर स्थित यह अत्याधुनिक निजी फ्रेट टर्मिनल 41 एकड़ में फैला है जो कि इस क्षेत्र की लॉजिस्टिक्स संबंधी जरूरतों को पूरा करेगा। इस टर्मिनल के चालू होने के बाद से अब तक डॉमेस्टिक ट्रांस्पोर्टेशन के करीबन 84 रेक्स हो चुके हैं। इस कार्यक्रम के साथ ही क्षेत्र में इस अत्याधुनिक परियोजना के जरिए ऐक्जि़म कारोबार आरंभ हो गया है। यह ऐक्जि़म ट्रेन इस पट्टी में मौजूद सभी उद्योगों की आवश्यकताओं की पूर्ति करेगी जिनमें रसायन, कागज, कपड़ा व अनाज उद्योग शामिल हैं।

इस शुरुआत पर अपोलो इंटरनेशनल लिमिटेड के वाइस चेयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर राजा कंवर ने कहा, यह एक ऐतिहासिक अवसर है कि भारत सरकार के टेक्सटाइल राज्यमंत्री अजय टम्टा की उपस्थिति में हम इस क्षेत्र की पहली ऐक्जि़म ट्रेन को रवाना कर रहे हैं। इंटिग्रेटिड लॉजिस्टिक्स क्षमताओं के निर्माण की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है जिसके द्वारा हम निकट भविष्य में भीतरी इलाकों में मौजूद अपने ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं दे सकेंगे।

Advertisements