प्रदेश हित के मुद्दों पर प्रतिपक्ष देगा पूरा सहयोग : डॉ. इंदिरा हृदयेश 

जनहित के विषयों पर सदन के अन्दर सहयोगात्मक विचार-विमर्श : कौशिक 

24 जून को संसदीय कार्य मंत्री स्वर्गीय प्रकाश पंत जी को दी जाएगी श्रद्धांजलि

25 जून को कार्य समिति की बैठक के दौरान होगा एजेंडा तय

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून । विधान सभा परिसर, देहरादून में सोमवार 24 जून से प्रारम्भ होने वाले सत्र के सम्बन्ध में दलीय नेताओं की बैठक एवं कार्यमंत्रणा समिति की बैठक उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष श्री प्रेम चन्द अग्रवाल की अध्यक्षता में आहूत की गयी।

दलीय नेताओं की बैठक के दौरान कार्यकारी संसदीय कार्य मंत्री श्री मदन कौशिक ने कहा है कि जनहित के विषयों पर सदन के अन्दर सहयोगात्मक विचार-विमर्श किया जायेगा। संसदीय कार्य संचालन नियमावली के अधीन वो विषय सदन के पटल पर रखे जायेंगे, जिन विषयों पर राज्य की अपेक्षा रहती है।

इस दौरान इन्दिरा हृदयेश जी ने कहा कि प्रदेश हित के मुद्दों को सदन के पटल पर रखा जाता है तो प्रतिपक्ष द्वारा पूरा सहयोग प्रदान किया जायेगा साथ ही उन्होंने सदन को पूरी तरह से चलाने का आश्वासन भी दिया है।

दलीय नेताओं की बैठक के दौरान विधान सभा अध्यक्ष जी कहा कि इससे पहले के विधान सभा सत्र में शांतिपूर्वक सम्पन्न होने का कारण प्रतिपक्ष का सहयोग प्राप्त हुआ है और मेरा पूरा विश्वास है कि इस बार का सदन भी पूरी शालीनता से चलेगा। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत,नेता प्रतिपक्ष श्रीमती इन्दिरा हृदयेश जी, कार्यकारी संसदीय कार्य मंत्री श्री मदन कौशिक मौजूद थे।

कार्य मंत्रणा समिति की बैठक के दौरान 24 जून को संसदीय कार्य मंत्री स्वर्गीय प्रकाश पंत जी को श्रद्धांजलि दी जाएगी एवं 25 जून को होने वाले विधायी कार्यों के लिए 24 जून को दुबारा कार्य समिति की बैठक के दौरान एजेंडा तय किया जाएगा।दलीय एवं कार्य मंत्रणा दोनों ही बैठकों के दौरान संसदीय कार्य मंत्री स्वर्गीय प्रकाश पंत जी को एक-एक मिनट का मौन रखकर शोक प्रकट किया गया।

कार्य मंत्रणा समिति की बैठक के दौरान विधान सभा उपाध्यक्ष श्री रघुनाथ सिंह चौहान, कार्यकारी संसदीय कार्य मंत्री श्री मदन कौशिक, नेता प्रतिपक्ष श्रीमती इन्दिरा हृदयेश, गोविंद सिंह कुंजवाल जी एवं प्रीतम सिंह जी मौजूद थे।

बैठको में विधान सभा सचिव जगदीश चन्द, सचिव विधायी प्रेम सिंह खिमाल, मुख्य शोध अधिकारी मुकेश सिंघल, अनुसचिव नरेन्द्र सिंह रावत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Advertisements