13177 विवाह तलाक सम्बन्धी केस उत्तराखंड के न्यायालयों में हैं लम्बित

0
351

दस जिलोे में लम्बित केसोें में बढ़ोत्तरी, तीन जिलो में कमी

सूचना अधिकार से करायी सूचना से हुआ खुलासा

देवभूमि मीडिया ब्यूरो
देहरादून । उत्तराखंड के विभिन्न न्यायालयों में जनवरी 2020 के अंत में न्यायालयोें में विवाह तलाक आदि परिवार सम्बन्धी 13177 केस लम्बित हैं। इसमें उच्च न्यायालय में लम्बित 1037 केस भी शामिल हैै। उत्तराखंड के तीन जिलों में पिछले तीन सालोें में लम्बित केसों में कमी आयी हैै जबकि दस जिलोें में बढ़ोत्तरी हुई हैै। उत्तराखंड उच्च न्यायालय के लोेेक सूचना अधिकारी द्वारा सूचना अधिकार के अन्तर्गत नदीम उद्दीन को उपलब्ध करायी गयी सूचना से यह तथ्य प्रकाश में आया हैै।
सूचना अधिकार कार्यकर्ता ने उत्तराखंड उच्च न्यायालय केे लोक सूचना अधिकारी से उत्तराखंड उच्च न्यायालय तथा उसके अधीनस्थ न्यायालय में लम्बित वैैवाहिक (तलाक, विवाह विच्छेद, प्रथककीकरण आदि) केसों की सूचना मांगी थी। इसके उत्तर में उत्तराखंड उच्च न्यायालय केे राज्य लोक सूचना अधिकारी/ज्वाइंट रजिस्ट्रार के0सी0सुयाल ने उत्तराखंड उच्च न्यायालय तथा उसकेे अधीनस्थ न्यायालयोें में लम्बित परिवार न्यायालय सम्बधी वैैवाहिक केसों के विवरण की फोटो प्रतियां उपलब्ध करायी हैै।
श्री नदीम को उपलब्ध कराये गये विवरणों के अनुसार जनवरी 2020 के अंत में उत्तराखंड उच्च न्यायालय सहित 13 जिलोें की अदालतों में 13177 वैैवाहिक केस लम्बित थे। इसमें से 1037 उत्तराखंड उच्च न्यायालय में तथा 12140 जिलोें के न्यायालयोें में लम्बित थे। पूर्व में उपलब्ध विवरणों के अनुसार जनवरी 2017 में 10336 केस लम्बित थे जिसमेें 814 उच्च न्यायालय व 9522 जिलोें के न्यायालयों में लम्बित थे।
लम्बित वैवाहिक केसोें की जिलावार उपलब्ध सूचना के अनुसार सर्वाधिक 3341 केस देहरादून जिले में, दूसरे स्थान पर 3064 केस हरिद्वार तथा तीसरे स्थान पर उधमसिंह नगर जिले में 2163 केस लम्बित थे। चैथे स्थान पर नैैनीताल जिले में 1679 वैैवाहिक केस लम्बित थे। अन्य जिलों में अल्मोड़ा में 155, बागेश्वर में 80, चमोली में 135, चम्पावत में 106, पौैड़ी गढ़वाल में 766, पिथौैरागढ़ में 287, रूद्रप्रयाग में 60, टिहरी गढ़वाल में 104 तथा उत्तरकाशी में 200 केस जनवरी 2020 केे अंत में लम्बित थे।
पूर्व में उपलब्ध सूचना के अनुसार तीन साल पहले जनवरी 2017 के अंत में उत्तराखंड के न्यायालयांे में कुल 10336 वैवाहिक केस लम्बित थे जो 27 प्रतिशत बढ़कर जनवरी 2020 में 13177 हो गये। जिलावार आंकड़ोें के अनुसार तीन जिलों में लम्बित केसोें में कमी हुई जबकि अन्य 10 जिलोें में बढ़ोत्तरी हुई है। लम्बित केसोें की कमी वालेे जिलोें में अल्मोड़ा में 178 केसों में 13 प्रतिशत कम होकर 155, बागेश्वर में 111 में से 28 प्रतिशत कम होकर 80 तथा टिहरी गढ़वाल में 200 में से 48 प्रतिशत कम होकर 104 केस लम्बित रह गये है। अन्य लम्बित केसों की बढ़ोत्तरी वाले जिलोें में चमोली में 73 प्रतिशत, चम्पावत में 51 प्रतिशत, देहरादून में 19, हरिद्वार में 35, नैैनीताल में 32 पौैड़ी गढ़वाल में 48, पिथौैरागढ़ में 49, रूद्रप्रयाग में 20, उधमसिंह नगर में 34 तथा उत्तरकाशी जिले में 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई हैै।