बेरीनाग के भट्टीगांव में शिकारी जॉय हुकिल ने किया आदमखोर तेंदुआ ढेर

0
243

आदमखोर ने पिछले माह सात साल की  बच्ची को बनाया था अपना निवाला 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

अब तक 40 वां तेंदुआ किया जॉय हुकिल ने ढेर 

नगर पंचायत के भट्टीगांव वार्ड में मारा गया आदमखोर तेंदुआ पौड़ी निवासी शिकारी जॉय हुकिल का 40वां शिकार बना। जॉय ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2007 में  टिहरी में पहली बार आदमखोर तेंदुए को मारा था। उन्होंने कहा कि दिल से वह तेंदुए को मारना नहीं चाहते हैं, लेकिन आदमखोर होने पर उसे मारना मजबूरी हो जाता है। तेंदुए को पकड़ने लिए पहले पिंजरा या ट्रेंकुलाइजर गन का प्रयोग किया जाता है। अगर वह पकड़ में नहीं आता  है, तो मुख्य वन संरक्षक देहरादून के आदेश के बाद तेंदुए को मारा जाता है। 
पिथौरागढ़ : अपनी जान को खुद जोख़िम में डालते हुए शिकारी जॉय हुकिल ने पिथोरागढ़ के बेरीनाग अंतर्गत भट्टी गांव के उस आदमखोर बाघ को मार गिराया जिसने बीते दिनों एक बच्ची को अपना निवाला बनाया था। इस आदमखोर को मिलकर यह शिकारी जॉय हुकिल का यह 40 वां आदमखोर है जिसको शिकारी जॉय ने मार गिराया है। उन्होंने रविवार की देर रात इस आदमखोर को अपनी गोली का निशाना बनाया। आदमखोर के मारे जाने से इलाके के लोगों ने राहत की सांस ली है। 
गौरतलब हो कि नगर पंचायत बेरीनाग के भट्टीगांव में सात अक्टूबर को सात वर्षीय बालिका हिमानी  पुत्री भगत राम को एक गुलदार ने निवाला बना दिया था। हिमानी शाम के करीब साढ़े छह बजे दूध लेने पड़ोस के घर में जा रही थी। तभी  घनी झाड़ियों का फायदा उठाकर गुलदार ने अकेली चल रही हिमानी को अपना निवाला बना डाला था। इसके बाद बच्ची को निवाला बनाने वाले तेंदुए को आदमखोर घोषित किया गया था। तेंदुए को मारने के लिए चार नवंबर को शिकारी जॉय हुकिल भट्टीगांव पहुंच गए थे। जॉय ने बताया कि चार नवंबर से उनकी और वन विभाग की टीम गांव में लगातार गश्त कर रही थी। ट्रैप कैमरों में एक गुलदार रात के समय चहलकदमी करता हुआनज़र आ रहा था।
शिकारी और वन विभाग के कर्मचारियों द्वारा लगातार आदमखोर तेंदुए की गतिविधियों पर लगातार नजर रखी जा रही थी। यह तेंदुआ लगातार आबादी का रुख कर रहा था। रविवार रात तेंदुए को नौ बजे एक गोली मारी गई। गोली लगने के बाद वह झाड़ियों की ओर भाग गया। सोमवार सुबह छह बजे मृत तेंदुए को वन विभाग और ग्रामीणों की मदद से झाड़ियों से निकाला गया। वन रेंजर चंदा महरा ने बताया मृत तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के बाद जला कर नष्ट कर दिया गया है।