श्रद्धालु पंच बद्री व पंच केदार के करें दर्शन 

धार्मिक स्थलों का भी व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाना जरूरी 

पूजा एवं मन्दिर व्यवस्था संबंधी आधारभूत संरचनाएं आपदा में हुई हैं नष्ट : मंदिर समिति 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून  : मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि केदारनाथ में श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। केदारनाथ में अवस्थापना सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालु केदारनाथ व बद्रीनाथ के साथ-साथ पंच बद्री व पंच केदार के दर्शन भी कर सकें, इसके लिए पर्यटन विभाग की वेबसाईट व अन्य माध्यमों से इन प्रमुख धार्मिक स्थलों का भी व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाना जरूरी है।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में श्री केदारनाथ में अवस्थापना सुविधाओं के सबंध में बैठक कर रहे थे । बैठक में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, सचिव वित्त श्री अमित नेगी, बद्री-केदार मंदिर समिति के सीईओ श्री बी.डी. सिंह, आदित्य बिड़ला ग्रुप के सीनियर मैनेजर श्री अरूण सिंह आदि उपस्थित थे।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि केदारनाथ में अवस्थापना विकास संबधी जो कार्य होने हैं, जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग से बातचीत कर उसका डिजाइन बनाया जाए। श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत हर सम्भव मदद दी जायेगी। उन्होंने कहा कि अवस्थापना विकास से संबधित जो कार्य होने हैं, उसका डिटेल प्रस्ताव बनाये जाए। अवस्थापना विकास कार्यों में बिड़ला ग्रुप से सहयोग लिया जा सकता है।  

बद्री-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष श्री मोहन प्रसाद थपलियाल ने बताया कि श्री केदारनाथ में यात्रा के सफल संचालन व यात्रियों की सुविधाओं के दृष्टिगत अवस्थापना विकास जरूरी है। उन्होंने बताया कि 2013 की आपदा में मन्दिर समिति की पूजा एवं मन्दिर व्यवस्था संबंधी आधारभूत संरचनाएं नष्ट हो गई थी।

बद्री-केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष ने कहा कि श्री केदारनाथ में मन्दिर के समीप भोग मण्डी, मठ भण्डार, तोषाखाना, रावल निवास, पुजारी निवास व कार्यालय व कार्मिकों के लिए आवास बनने हैं। श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु एक रैन बसेरे का निर्माण किया जाना है।

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.