उत्तराखंड में प्रवेश करना है तो कोरोना टेस्ट के बगैर अब नहीं मिलेगा प्रवेश

0
262

रिपोर्ट यदि हुई होगी निगेटिव तभी मिलेगा राज्य में प्रवेश, अन्यथा पॉजिटिव आने पर आपको क्वारन्टीन होना होगा

राज्य के बॉर्डर पर कोरोना की एंटीजन (तत्काल) जांच के लिए लोगों को 800 से 850 रुपये तक करने होंगे खर्च

देवभूमि  मीडिया ब्यूरो
देहरादून : प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि अब बिना राज्य की सीमाओं से राज्य में प्रवेश से पहले प्रवेश करने  वाले नागरिकों का बॉर्डर चौकियों पर रैपिड एंटीजेन टेस्ट किया जायेगा।  वहीँ लोगों की सुविधा को देखते हुए सरकार ने यह व्यवस्था की है कि यदि आप बिना कोविड-19 टेस्ट के प्रदेश के बॉर्डर पर तक आ गए हैं तो आपको सीमा पर ही कोविड टेस्ट की सुविधा मिलेगी लेकिन इस टेस्ट का भुगतान आपको कराना होगा और टेस्ट नेगिटिव पाए जाने पर ही आपको राज्य में प्रवेश की अनुमति होगी।  राज्य के बॉर्डर पर कोरोना की एंटीजन (तत्काल) जांच के लिए लोगों को 800 से 850 रुपये तक खर्च करने होंगे, जबकि आरटीपीसीआर टेस्ट 2400 रुपए में ही होंगे। अन्यथा पॉजिटिव आने पर आपको क्वारन्टीन होना होगा। वहीं  बाहर से आने वाले लोगों के पास यदि 96 घंटे के भीतर का कोरोना जांच रिपोर्ट नेगिटिव है तो चेक पोस्टों पर उनकी कोरोना जांच नहीं की जाएगी। 
एक जानकारी के अनुसार बॉर्डर चौकियों पर रैपिड एंटीजेन टेस्ट होगा जिसकी रिपोर्ट मिनटों में मिल जाती है और इस टेस्ट की रिपोर्ट भी तुरंत ही मिल जाती है।  मुख्य सचिव ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि वे राज्य की सीमा के चेकपोस्टों पर बाहर से आने वाले लोगों को आईसीएमआर अधिकृत लैब से आरटी-पीसीआर, ट्रूनेट, सीबीएनएएटी जांच के बाद ही प्रवेश दें।
वहीं बार्डर चेक पोस्टों पर प्राइवेट लैब से जांच कराने पर 2400 और सरकारी से जांच कराने पर प्रति व्यक्ति 2000 रुपये लिए जाएंगे। हालांकि ट्रूनेट, सीबीएनएएटी जांच के रेट अभी तय नहीं किए गए हैं। हालांकि उत्तराखंड में प्रवेश के लिए स्मार्ट सिटी की बेवसाइट पर पंजीकरण भी जरूरी होगा। गढ़वाल अउ कुमायूं मंडलों के बीच आवागमन करने वालों को अपने पास उत्तराखंड की आईडी रखनी होगी यानि यदि आप किसी काम से देहरादून से वाया बिजनौर कुमाऊं आना जाना कर रहे हैं तो अपने पास आईडी जरूर रखें। आईडी होने पर आपको कोरोना जांच का सामना नहीं करना पड़ेगा।  बाकी गाइडलाइन एक सितंबर को जारी SOP के अनुसार वाली ही रहेंगी।