महिला ने अपने नाती के उत्पीड़न की शिकायत किशोर न्याय बोर्ड से की 

पन्द्रह दिन के भीतर जांच आख्या रखने के निर्देश

रुद्रप्रयाग । आंगनबाड़ी केन्द्र नैली कुण्ड में बच्चों के उत्पीड़न का मामला प्रकाश में आया है। ग्राम कुण्ड की एक महिला ने आंगनबाड़ी केन्द्र में अपने नाती के उत्पीड़न की शिकायत जनपद के किशोर न्याय बोर्ड में की है। किशोर न्याय बोर्ड रुद्रप्रयाग के सदस्य नरेन्द्र सिंह कण्डारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को पन्द्रह दिन में मामले की स्पष्ट जांच कर जांच आख्या न्याय बोर्ड के सम्मुख रखने के निर्देश दिए हैं।

कुण्ड निवासी माहेश्वरी देवी पत्नी रामलाल ने कहा कि उनके तीन वर्षीय नाती आदित्य के साथ आंगनबाड़ी केन्द्र नैली कुण्ड में अन्य बच्चों द्वारा दुव्र्यवहार किया जाता है। इसकी शिकायत जब आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका से की गई तो उन्होंने बच्चों को समझाने के बजाय बच्चे को आंगनबाड़ी केन्द्र में ही न भेजने की सलाह दी। 19 दिसम्बर 2016 को जब वे केन्द्र पर पहुंची तो देखा कि आदित्य ने अपने कपड़ों पर गन्दगी की हुई थी। हद तो यह थी कि उन्हें सूचित करने के बजाय आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका द्वारा आदित्य को खड़ा किया हुआ था और बुरी तरह से डांटा भी जा रहा था। बच्चा डर से थर-थर कांप रहा था। उन्होंने किसी तरह बच्चे को चुप कराया। बच्चे के मन में इतना डर समा गया कि उस दिन से वह केन्द्र पर नहीं जा रहा है।

माहेश्वरी देवी ने कहा कि वे इस सम्बन्ध में जिला कार्यक्रम अधिकारी को पत्र लिख चुकी हैं, मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य नरेन्द्र सिंह कण्डारी ने मामले का संज्ञान लेते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी को 15 दिन में निष्पक्ष जांच कर आवश्यक कार्यवाही के लिए न्याय बोर्ड को सूचित करने के निर्देश दिए हैं।

Advertisements