हंस फाउंडेशन हरिद्वार कुम्भ को कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए श्रद्धालुओं वितरित करेगा 10 लाख मास्क

0
447

छोटी पहल बड़ा इरादा : हरिद्वार कुंभ 2021 में श्रद्धालुओं के लिए मास्क प्रदान करेगा हंस फाउंडेशन

कोरोना के खिलाफ रक्षा कवच बनेंगे हंस फाउंडेशन के मास्क

पूज्य माता श्री मंगला जी और भोले जी महाराज ने वितरित किए जाने वाले पांच लेयर वाले इस मास्क की क्वॉलिटी पर दिया है खुद बहुत ध्यान 

हंस फाउंडेशन जिस तरह से कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को मास्क वितरित करने के लिए हमारे साथ खड़ा हुआ इससे हमारी बहुत बड़ी चिंता हुई है दूर : मेलाधिकारी दीपक रावत 

 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून : हरिद्वार में होने जा रहे कुंभ के आयोजन को लेकर तस्वीर साफ हो गई है। माघ पूर्णिमा पर 27 फरवरी से कुंभ मेले की शुरुआत होगी। हरिद्वार में कुंभ के दिव्य,भव्य आयोजन के हिसाब से सरकार तैयारियों में जुटी है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते सरकार के सामने कुछ चुनौतियां भी हैं। सरकार की सबसे बड़ी चिंता कुंभ में कोरोना संक्रमण की रोकथाम है। जिसको देखते हुए भी तैयारियां की जा रही हैं, मगर लाखों की तादाद में उमडऩे वाली श्रद्धालुओं की भीड़ के लिए कोरोना के दृष्टिगत व्यवस्थाएं जुटाना कोई आसान काम भी नहीं है।
श्रद्धालुओं को कोरोना से बचाने और कुंभ मेले को कोरोना से दूर रखने में राज्य सरकार और कुंभ मेला प्रशासन के साथ हंस फाउंडेशन खड़ा हुआ है। हंस फाउंडेशन की संस्थापक माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज की एक छोटी सी पहल एक बड़े इरादे के साथ राज्य सरकार के साथ सामने आ रही है कि हंस फाउंडेशन हरिद्वार कुंभ में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को रक्षा कवच के रूप में 10 लाख मास्क वितरित करेगा। जो जहां कोरोना की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा वहीं लाखों श्रद्धालुओं को संक्रमण से बचाकर जीवन दान भी देगा।
हंस फाउंडेशन के इस अभियान की पहल शुरू भी हो गई है फाउंडेशन द्वारा कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत को हरिद्वार कुंभ मेले के लिए तैयार किए गए 40 हजार विशेष मास्क प्रदान किए गए हैं। जबकि फाउंडेशन कुम्भ मेले के दौरान 10 लाख अतिरिक्त मास्क भी वितरित करेगा। 
हंस फाउंडेशन द्वारा प्रदान किए गए मास्क के बारे बताते हुए मेला अधिकारी दीपक रावत ने कहा कि हरिद्वार कुंभ मेले में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए हंस फाउंडेशन द्वारा लगभग 10 लाख मास्क प्रदान करने का निर्णय बहुत ही सराहनीय और महत्वपूर्ण पहल है। इसके लिए हम पूज्य माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का साधुवाद करते हैं।
कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने कहा कि कुंभ में आने वाले यात्रियों के लिए मास्क अनिवार्य किया गया है। हंस फाउंडेशन जिस तरह से कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को मास्क वितरित करने के लिए हमारे साथ खड़ा हुआ है। इससे हमारी बहुत बड़ी चिंता दूर हो गई है। इसके लिए हम पूज्य माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार व्यक्त करते हैं। श्री रावत ने कहा कि हंस फाउंडेशन के यह मास्क हरिद्वार कुंभ मेले में आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए कोविड के खिलाफ रक्षा कवच बनेंगे।
इस मौके पर मेला अधिकारी ने कहा कि केंद्र से मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी होने के बाद राज्य सरकार ने भी कुंभ की विस्तृत एसओपी जारी कर दी थी। इसके तहत आश्रम और धर्मशालाओं से लेकर परिवहन तक के लिए अलग-अलग निर्देश जारी किए गए हैं। कोरोना के साये में होने जा रहे हरिद्वार कुंभ में पंजीकरण और आने से 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट के बाद ही श्रद्धालु आ सकेंगे।
उल्लेखनीय है कि कुंभ मेले के लिए जो मास्क हंस फाउंडेशन की ओर से भेंट किए गए हैं। उनकी क्वॉलिटी पर पूज्य माता श्री मंगला जी और भोले जी महाराज ने खुद बहुत ध्यान दिया है। ये पांच परत वाले मास्क हैं। फाउंडेशन की ओर से मेला प्रशासन को बताया गया है कि जरूरत के अनुसार आगे भी मास्क की आपूर्ति की जाएगी। अगले 10 दिन के भीतर मेला प्रशासन को तीन लाख और मास्क दिए जाएंगे। हंस फाउंडेशन ने मेला प्रशासन को 10 लाख मास्क देने का लक्ष्य रखा है। जैसे-जैसे प्रशासन द्वारा मास्क की मांग की जाएगी, फाउंडेशन मास्क मेला प्रशासन को उपलब्ध कराता रहेगा।