सुरकंडा तोक में घास काट रही थी महिलाएं, चिल्लाने पर महिला को घसीट कर ले गया गुलदार 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

रुद्रप्रयाग । जिले के भरदार पट्टी में आदमखोर गुलदार का आतंक थमने का नहीं ले रहा है। तीन दिन पूर्व ही सतनी गांव के एक अधेड़ व्यक्ति को गुलदार ने अपना निवाला बनाया था कि शुक्रवार सुबह फिर गुलदार ने दूसरी घटना को अंजाम दे दिया। गांव से दो किमी दूर सुरकंडा तोक के जंगल में घास काटने गई महिला को आदमखोर गुलदार ने अपना शिकार बना दिया। महिलाओं के शोर मचाने पर गुलदार महिला को घसीटता हुआ पांच सौ मीटर दूर ले गया, जिस कारण महिला की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना के बाद से ग्रामीणों में प्रशासन और वन विभाग के खिलाफ भारी आक्रोश बना हुआ है। बताया गया कि डेढ़ किमी की परिधि में यह गुलदार ने दूसरी घटना को अंजाम दिया। तीन दिन में गुलदार द्वारा निवाला बनाने की दूसरी घटना से ग्रामीणों में जर्बदस्त आक्रोश है। आक्रोशित ग्रामीणों ने कहा कि तब तक शव पर कोई भी हाथ नहीं लगाएगा, जब तक गुलदार को मारने के आदेश न दिए जांय।

वहीं सूचना पर वन विभाग के एसडीओ महिपाल सिंह, कोतवाली निरीक्षक केएस बिष्ट, वन क्षेत्राधिकारी राजेंद्र नेगी, एसडीएम नंदन सिंह नगन्याल, सामाजिक कार्यकर्ता मोहित डिमरी सहित बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचे।

एसडीओ महिपाल सिंह ने बताया कि गुलदार को मारने के लिए सूटर बुला दिया गया है। ग्रामीणों की सुरक्षा का पूरा ध्यान दिया जाएगा। गश्त बढ़ाने के साथ ही पिंजरा भी लगा दिया गया है। इधर, ग्रामीणों द्वारा शव को रातभर घटनास्थल पर ही रखने का निर्णय लिया गया। शव की सुरक्षा के लिए ग्रामीण और वन विभाग की टीम रातभर जंगल में ही रहेगी। 

Advertisements