जनता के कार्यक्रम गैरहाजिर पर  छह अफसरों  का जवाब-तलब 

पौड़ी : सूबे की जनता के प्रति अधिकारियों का उदासीन रवैया अब त्रिवेन्द्र सरकार में अधिकारियों पर ही महँगा पड़ने जा रहा है, जहाँ बीते दिनों मुख्यमंत्री की बैठक के दौरान आपस में गप्पबाज़ी कर रहे तीन अधिकारियों का राजधानी में स्पस्टीकरण ही नहीं माँगा गया बल्कि मुख्यमंत्री ने इन तीनों अधिकारियों को भरी बैठक में खड़ा कर लताड़ लगाई तो वहीँ द्वारीखाल में सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम में शिरकत न करना जिले के छह अधिकारियों को भारी पड़ गया है। सीडीओ ने इन छह अधिकारियों का जवाब तलब करने के साथ ही एक दिन का वेतन काटने के आदेश किए हैं।

सूबे में अफसरों के लापरवाह रवैये को गंभीरता से लेकर इस मामले में कार्रवाई की गई है। हुआ यह कि गुरुवार को सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम का आयोजन सीडीओ की अध्यक्षता में द्वारीखाल ब्लाक सभागार में किया गया था। जिसमें विभिन्न महकमों से जुड़ी समस्याएं ग्रामीणों ने रखी थी। इस कार्यक्रम में जिलापूर्ति अधिकारी पौड़ी, डीएफओ लैंसडौंन, ईई लोनिवि दुगड्डा, ईई सिंचाई कोटद्वार, ईई जलनिगम कोटद्वार सहित ईई विद्युत कोटद्वार न तो स्वयं आए और नहीं इनका कोई प्रतिनिधि ही जनता दरबार कार्यक्रम में पहुंचा। इस वजह से कई समस्याओं पर विचार विमर्स नहीं होने के साथ ही समस्याओं का समाधान नहीं हो पाया।

सीडीओ पौड़ी विजय कुमार जोगदंडे ने बताया है कि उक्त सभी अधिकारियों को जवाब तलब किया गया है। साथ ही औचित्य पूर्ण स्पष्टीकरण न देने पर एक दिन का वेतन भी काटने के निर्देश दिए गए हैं।

Advertisements