मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने गैरसैंण को घोषित किया ग्रीष्मकालीन राजधानी

1
443

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का ऐतिहासिक फैसला
गैरसैंण मे चल रहे बजट सत्र के दौरान की बड़ी घोषणा

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

गैरसैंण। उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार ने जनता से किए एक बड़े प्रमुख वादे को पूरा कर दिखाया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैंण में चल रहे उत्तराखंड राज्य के बजट सत्र के दौरान बड़ी घोषणा की है। उन्होंने गैरसैंण को उत्तराखंड राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित कर दिया है।

राज्य गठन के बाद से ही यह मांग उठाई जा रही थी कि पर्वतीय राज्य की राजधानी पर्वतीय क्षेत्र में ही होनी चाहिए। इसमें गैरसैंण का नाम प्रमुखता से उठाया जाता रहा। राजनीतिक दलों ने इस मा्ंग को चुनावी मुद्दा भी बनाया था। देहरादून में अस्थाई राजधानी का अक्सर विरोध किया जाता रहा, लेकिन राजनीतिक दलों ने इस दिशा में हमेशा इच्छाशक्ति की कमी जताई।

उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार ने यह साबित कर दिया कि उनकी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं हैं। वो राज्य और यहां की जनता के हितों के लिए लगातार प्रयास करते रहे हैं।

गैरसैंण में राजधानी के नाम पर वहां विधानसभा सत्र होते रहे। वर्तमान में गैरसैंण में राज्य का बजट सत्र चल रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए गैरसैंण को उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित कर दिया। मालूम हो कि गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाना भाजपा के चुनावी संकल्प पत्र में भी शामिल था।

Comments are closed.