वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने 17 जरूरतमंदों को सौंपे आर्थिक सहायता के चेक

0
216

वन मंत्री ने जिन लोगों के घर बालिकाओं का जन्म हुआ, लड़की के विवाह के लिए, गंभीर बीमारियों के लिए, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए दी आर्थिक सहायता

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

कोटद्वार। उत्तराखंड के वन एवं पर्यावरण मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने आज यहां अपने आवास पर प्रमुख रूप से जिन महिलाओं के पति की आकस्मिक मृत्यु हो चुकी है या जिन लोगों के घर बालिकाओं का जन्म हुआ, लड़की के विवाह के लिए, गंभीर बीमारियों के लिए, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए उन्हें आर्थिक सहायता के रूप में दस हजार से तीन लाख 10 हज़ार रुपए तक के रूप में चेक वितरित किए।

वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने बताया कि श्रम कल्याण बोर्ड और श्रम विभाग मिलकर जन्म से लेकर मृत्यु तक निर्धन एवं जरूरतमंदों को गंभीर बीमारी, शिक्षा स्वास्थ्य के लिए आर्थिक मदद पहुंचा रहा है।

श्रम कल्याण बोर्ड के बारे में जानकारी देते हुए वन मंत्री श्री रावत ने बताया कि श्रम कल्याण बोर्ड के माध्यम से निर्धन वर्ग के लोगों को आर्थिक सहायता देने के बारे में कई मंत्रियों सहित उन्हें भी इसकी जानकारी नहीं थी। श्रम कल्याण बोर्ड निर्धन वर्ग के लोगों को सहायता पहुंचा सकता है । श्रम कल्याण बोर्ड के माध्यम से अब तक दो लाख से अधिक लोगों के खाते में 2 हजार रुपये लॉकडाउन के टाइम खाते में डाले गए थे, वही पौड़ी जिले के 33 हजार लोगों के खाते में भी दो-दो हजार रुपये डाले गए थे। श्रम कल्याण बोर्ड और श्रम विभाग द्वारा लोक डाउन में 15 किलो की किट बैग पूरे राज्य में लगभग सवा तीन लाख से अधिक परिवारों को बांटी गईं। डॉ. हरक सिंह रावत ने बताया कि श्रम विभाग और श्रम कल्याण बोर्ड के अतिरिक्त अन्य स्वयं सेवकों द्वारा 40 राशन किट बाटी गई थी।

मोदी किचन चलाने के लिए उनके द्वारा 18 लाख की राशि निजी तौर पर दी गई, जिससे लॉकडाउन में फंसे लोगों को असुविधा ना हो।