जेल से मांगी जा रही रंगदारी पर आइ जी जेल सख़्त

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

हरिद्वार। जिला कारागार रोशनाबाद में कैदियों के पास से पांच मोबाइल बरामद हुए हैं। कैदियों ने ये मोबाइल फोन बैरकों में छिपाए थे। आइजी जेल ने इस पूरे मामले की जांच बैठा दी है। 

जिला कारागार रोशनाबाद में कैदियों से मोबाइल मिलने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। कैदी जेल में बैठे-बैठे रंगदारी, हत्या जैसे संगीन अपराधों की योजनाओं को मोबाइल से अंजाम दे रहे हैं। एक सप्ताह पहले हरिद्वार में कनखल निवासी भाजपा नेता कृष्ण मुरारी शर्मा के बेटे राहुल शर्मा को अंजान नंबर से कॉल कर 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। पुलिस की पड़ताल में सामने आया है कि जिस सिम का इस्तेमाल रंगदारी मांगने में किया गया है, वह कनखल निवासी मोनिका चंचल के नाम पर है। उसका पति गौरव चंचल दुष्कर्म के मामले में जिला कारागार में बंद है। 

कॉल लोकेशन का पता लगाने पर जेल के आसपास से कॉल कर रंगदारी मांगने की तस्दीक भी हुई। जिस पर एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने आइजी जेल को चिट्ठी भेजी थी। आइजी ने सघन चेकिंग अभियान चलाने के सख्त निर्देश दिए। जिस पर बुधवार को बंदी रक्षकों ने बैरकों में बारीकी से तलाशी ली गई। अलग-अलग बैरकों में कैदियों के कब्जे से पांच मोबाइल बरामद हुए है। वहीं, अधिकारियों ने आइजी जेल को पूरे मामले की जानकारी दी। जिस पर आइजी जेल ने जांच बैठा दी है। हालांकि इस मामले में बुधवार देर शाम तक भी जेल प्रशासन की ओर से कोई तहरीर सिडकुल थाने में नहीं दी गई थी। अलबत्ता आइजी जेल पीवीके प्रसाद ने जिला कारागार में पांच मोबाइल मिलने की पुष्टि करते हुए बताया कि पूरे मामले पर जांच बैठा दी गई है। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Advertisements