पहले पार्टी फोरम पर ही रखें भाजपा के मंत्री, विधायक और पदाधिकारी अपनी बात

0
370

बेलगाम हो रहे मंत्री, विधायक और पदाधिकारियों को दिया कड़ा सन्देश 

भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए अपने कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण का बनाया ख़ाका 

प्रभारी मंत्रियों से कहा कार्यकर्ताओं से समस्याओं का फीड बैक लेने के बाद ही वे करें जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से बैठक

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून : प्रदेश में आगामी 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं लेकिन भारतीय जनता पार्टी अभी से चुनावी मोड में नज़र आ रही है।  भाजपा अपने कुनबे को समेटने के साथ ही उनको तमाम कार्यक्रमों को देकर चुनाव तक व्यस्त रखने का ख़ाका तैयार कर चुकी है। इतना ही नहीं पार्टी ने अपने मंत्री, विधायक और पार्टी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी का अहसास भी कराया है कि उन्हें कार्यकर्ताओं से अब कैसे समन्वय बनाना है। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने बेलगाम हो रहे मंत्री, विधायक या पदाधिकारियों को कोर कमेटी की बैठक में लिए गए निर्णय के बाद कड़ा सन्देश देते हुए साफ़ लफ्जों में कहा है कि कोई भी मामला होने पर उसे पहले पार्टी फोरम से बाहर ले जाने के बजाय पहले पार्टी फोरम पर रखा जाना चाहिए न कि किसी अन्य मंच या मीडिया के द्वारा ही सामने लाया जाए।
पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने कोर कमेटी की बैठक के बाद मीडिया से कहा कि अगर इस हिदायत का मंत्री, विधायक या पदाधिकारी  उल्लंघन किया जाता है तो उसे अनुशासनहीनता की श्रेणी में माना जाएगा। वहीं उन्होंने विधायक पूरण सिंह फर्त्याल के प्रकरण पर कहा कि सांसद अजय भट्ट और अजय टम्टा उनसे बात करेंगे। 
पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि बैठक में तय किया गया है कि जिलों के प्रभारी मंत्रियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे महीने में कम से कम एक बार अपने प्रभार वाले जिलों का अवश्य दौरा करें वहां रात्रि विश्राम भी करें और साथ जिला समन्वय कमेटी की बैठकों में भाग लें, कार्यकर्ताओं से मिलें उनकी समस्याओं के निराकरण का प्रयास करें और उनके उनके क्षेत्र की समस्याओं का फीड बैक लेने के बाद वे जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से बैठक करें।
इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि भाजपा के रिंग रोड की भूमि पर नए प्रदेश कार्यालय का भूमि पूजन और शिलान्यास का कार्यक्रम रखा गया है।  उन्होंने बताया 17 अक्टूबर को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा वर्चुअल तरीके से प्रस्तावित भाजपा प्रदेश कार्यालय का शिलान्यास करेंगे। इस कार्यक्रम में वे स्वयं, मुख्यमंत्री, मंत्री, सांसद और पार्टी के सभी पदाधिकारी रहेंगे।
पार्टी के कार्यक्रमों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने  बताया कि पांच अक्टूबर से 10 अक्टूबर के बीच सभी जिलों की प्रशिक्षण कार्ययोजना बैठकें होंगी। जबकि उसके बाद 28 अक्टूबर से 10 नवंबर तक मंडलों में प्रशिक्षण वर्ग होंगे। उन्होंने बताया इसके लिए 31 समूह बनाए गए हैं। मंडलों में होने वाले दो दिन के प्रशिक्षण शिविरों में आठ विषयों पर चर्चा होगी। ये विषय सम्बंधित प्रशिक्षण प्रमुखों को दे दिए गए हैं। प्रशिक्षण वर्ग राज्य  के सभी 252 मंडलों में संपन्न होंगे।
कोर कमेटी की बैठक में राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिव प्रकाश, केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, पार्टी के सांसद सांसद अजय भट्ट, महारानी राज लक्ष्मी, अजय टम्टा, तीरथ सिंह रावत, प्रदेश सरकार के मंत्री मदन कौशिक, धन सिंह रावत, संगठन महामंत्री  अजेय कुमार सहित महामंत्री राजेंद्र भंडारी,कुलदीप कुमार आदि मौजूद रहे।