टोल प्लाजा पर नहीं दिखेगी गाड़ियों की लंबी कतार

पहुंचते ही फास्टैग से हो जाएगा काम, समय की होगी बचत

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून। उत्तराखंड में  NHAI (भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण)  की और से तैयार दो टोल प्लाजा पर 15 दिसंबर से फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा यह दो टोल प्लाजा उधम सिंह नगर जनपद के काशीपुर सितारगंज राष्ट्रीय राजमार्ग पर देवरिया और सितारगंज टनकपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यानी में स्थापित किए गए है। NHAI उत्तराखण्ड के क्षेत्रीय अधिकारी श्री सी. के. सिन्हा ने बताया कि दोनों टोल प्लाजा पर 11 नवंबर से ट्रायल शुरू हो चुका है ट्रायल के दौरान वाहन स्वामियों को जागरूपता के लिहाज से कार्य किया जा रहा है वाहन स्वामियों को फास्टैग के बारे में पूरी जानकारी दी जा रही है उन्हें हर तरीके से फास्टैग के लाभ के बारे में बताया जा रहा है।

फास्टैग बनाने की व्यवस्था दोनों टोल प्लाजा पर की गई है ऑनलाइन फास्ट भी बनाए जा रहे हैं देवरिया टोल प्लाजा पर पेटीएम और बानूसी प्लाजा पर एच डी.एफ.सी. बैंक फास्टैग बना रहा है । इसके अलावा अन्य पॉइंट ऑफ सेल के माध्यम से फास्टैग  बनाने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। टोल प्लाजा से गुजरने वाले वाहनों को यह बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार के सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने 15 दिसंबर से फास्टैग अनिवार्य कर दिया है ऐसा फास्टैग कैसे काम करेगा वाहन के फ्रंट शीशे पर लगे टैग को टोल का रीडर सर्च कर लेगा उसी समय वाहन मालिक के फास्टैग वालट से पैसे कट जाएंगे इसकी सूचना उसे तत्काल मोबाइल पर मैसेज के जरिए मिल जाएगी।

लोकल को अनलिमिटेड रिचार्ज टोल प्लाजा के 20 किलोमीटर के रेडिएशन में रहने वाले लोगों के लिए। अनलिमिटेड रिचार्ज की सुविधा उपलब्ध कराई गई है उन्हें हर महीने फिलहाल  265 रूपये भुगतान करना होगा। वहीं NHAI उत्तराखंड के क्षेत्रीय अधिकारी श्री सी.के. सिन्हा ने राष्ट्रीय राजमार्ग 74 ने चुटकी देवरिया के टोल प्लाजा का निरीक्षण भी कर लिया है इस दौरान उन्होंने 15 दिसंबर से शुरू होने वाले इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन ईटीसी के तैयारियों का भी जायजा लिया। क्षेत्रीय अधिकारी श्री सी.के. सिन्हा की माने तो टोल प्लाजा पर फास्टैग की तैयारी लेन में गाड़ियों को कैसे व्यवस्थित किया जाएगा आदि जानकारी दी जा रही है।

निरीक्षण के बाद NHAI रुद्रपुर के परियोजना निदेशक बीपी पाठक का कहना है कि देवरिया टोल से प्रतिदिन 10,000 वाहन गुजरते है इसमें 15 फीसदी मासिक पास वाले वाहन स्वामी है इसमें ज्यादातर रुद्रपुर और किच्छा के हैं उन्होंने यह भी बताया कि प्रतिदिन लगभग 300 वाहनों में फास्ट डिवाइस लगाई जा रही है इसके अलावा टोल पर प्रतिदिन 2 घंटे का ट्रायल करके 14 दिसंबर की तैयारी भी की जा रही है।

श्री सी.के. सिन्हा ने कहा है कि केंद्र सरकार के इस पहल से लोगों को समय की बचत होगी एवं कैशलेस व्यवस्था जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना भी है उस को आगे बढ़ाया जाएगा इससे गाड़ियों कि ट्रैकिंग सिस्टम भी सही तरीके से हो पाएगी और जिस तरह से अपराध प्रदेशों व देश में हो रहे हैं उसमें भी कमी आएगी।

Advertisements