पांच दिवसीय मंदाकिनी शरदोत्सव एवं कृषि औद्योगिक विकास मेले का शुभारम्भ

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

रुद्रप्रयाग। विभिन्न विद्यालयों की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के बीच पांच दिवसीय मन्दाकिनी शरदोत्सव एवं कृषि औद्योगिक विकास मेले का शुभारम्भ हुआ। मेले का उद्घाटन करते हुए केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने कहा कि मेले हमारी संस्कृति के संवाहक होते हैं। स्थानीय मेले में जहां बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए मंच मिलता है, जो एकता में अनेकता की झलक दिखाता है वहीं स्थानीय उत्पादों के लिए बाजार भी उपलब्ध होता है। उन्होंने मेले को हर सम्भव मदद देने का आश्वासन दिया।

 विशिष्ट अतिथि जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ईश्वर सिंह बिष्ट ने कहा कि मेले मिलन के त्यौहार हैं। इनसे आपसी भाई चारा एवं सामजस्य बढ़ता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए नगर पालिका रूद्रप्रयाग की अध्यक्ष गीता झिंक्वाण ने आयोजकों को इतना भव्य मेला आयोजित करने पर बधाई दी। मेला अध्यक्ष एवं नपं अगस्तयमुनि की अध्यक्ष अरूणा बेंजवाल ने आगन्तुक अतिथियों का स्वागत एवं आभार प्रकट किया।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए मेला कमेटी के महासचिव हर्षवर्धन बेंजवाल ने बताया कि वर्ष 2002 से यह मेला आयोजित किया जा रहा है। मेला कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पृथ्वीपाल रावत ने मेले के संस्थापक सदस्यों को याद करते हुए उनका आभार जताया। इससे पूर्व मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर मेले का विधिवत उद्घाटन किया गया।

इस अवसर पर चिल्ड्रन एकेडमी, केन्द्रीय विद्यालय, गुरूकुल नेशनल स्कूल, राबाइका द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सुन्दर प्रस्तुतियां दी गई। इस मौके पर नपं सभासद मंजू देवी, वन्दना देवी, सुचिता देवी, भूपेन्द्र राणा, दिनेश बेंजवाल, उमा प्रसाद भट्ट, मेला संयोजक विक्रम नेगी, पूर्व कनिष्ठ प्रमुख रमेश बेंजवाल, व्यापार संघ अध्यक्ष मोहन रौतेला, सचिव अनिल कोठियाल, पूर्व संयुक्त शिक्षा निदेशक रमेश चमोला, बचन सिंह बिष्ट, मगनानन्द भट्ट आदि थे। 

Advertisements