डीएम ने जब धरती पर उतारी थीम तो उसे देख सीएम हुए गदगद

0
357

कंडोलिया थीम पार्क को सीएम ने जनता को किया समर्पित

लाइट एंड लेजर शो ने दर्शकों को किया मंत्रमुग्ध

टिहरी झील की तर्ज पर आने वाले समय में सतपुली झील में भी सी-प्लेन संचालन की योजना

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

पौड़ी गढ़वाल : एक जिलाधिकारी चाहे तो क्या कुछ नहीं कर सकता है यह बताने के लिए गढ़वाल का आयुक्त मुख्यालय पौड़ी और वहां वर्षों से वीरान पड़े कंडोलिया इलाके पर जब पौड़ी के डीएम गर्ब्याल की नज़र पड़ी तो उन्होंने अपने अनुभवों और यात्राओं का ज्ञान यहां मानो उंडेल दिया जिसे देख कर कोई यह सोचने पर विवश हो गया कि क्या ऐसा भी हो सकता है। इतना ही नहीं इसके लोकार्पण के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी कंडोलिया के थीम पार्क को जनता को समर्पित करते हुए गदगद नज़र आए। इस मौके पर स्कूली बच्चों की प्रस्तुतियां व पार्क में लाइट एंड लेजर शो का कार्यक्रम आकर्षण का केंद्र रहे।

पौड़ी पहुंचने पर सबसे पहले मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कंडोलिया ठाकुर के दर्शन किए और सभी की खुशहाली की कामना की। इसके बाद उन्होंने कंडोलिया थीम पार्क का उद्धघाटन करते हुए सभी को कंडोलिया के थीम पार्क की बधाइयां दी। उन्होंने कहा कि कंडोलिया देश के सर्वोच्च उंचाई वाला थीम पार्क है। पहाड़ की भौगोलिक स्थितियों के अनुरूप बने इस पार्क के माध्यम से हम पर्यटन विकास को आगे बढ़ा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि अभी तक हमारे राज्य में धार्मिक पर्यटक ही आते हैं लेकिन अब इसे और विस्तार देने का प्रयास किया जा रहा है। पर्यटन विकास के लिए हमने सर्वाधिक रोजगार देने वाले एडवेंचर टूरिज्म में विशेष फोकस किया है। कहा कि शीतकालीन पर्यटन को प्रदेश में बढ़ावा दिया जायेगा। आने वाले दस बाहर सालों में स्थितियां काफी बेहतर हो जायेंगी।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की भवन निर्माण शैली भी कई क्षेत्रों में सबसे आगे है। इसको बढ़ावा देने का भी प्रयास किया जा रहा है। सतपुली में झील निर्माण के अलावा कई योजनाएं पर्यटन विकास को बढ़ावा देंगी। टिहरी झील की तर्ज पर ही आने वाले समय में सतपुली की झील में सी-प्लेन संचालन की भी योजना है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पौड़ी में एनसीसी अकादमी में कुछ दिक्कतें आई हैं लेकिन जल्द उनका समाधान हो जायेगा। उन्होंने कहा कि पौड़ी बस अड्डे के लिए तीन करोड़ सरकार ने दे दिए हैं। अब यह जल्द पूरा हो जायेगा। उन्होंने कहा कि ग्रोथ सेंटरों का संचालन कर रही महिलाओं के उत्पादों को बाजार मुहैया कराने के मकसद से प्रदेश में 5100 विपणन केंद्र बनाए जा रहे हैं।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत, पौड़ी विधायक मुकेश कोली, लैंसडाउन विधायक दलीप रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष शांति देवी, नगरपालिका अध्यक्षयशपाल बेनाम, जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन, जिलाधिकारी धीराज गबर्याल आदि मौजूद रहे।