हर समय शहीद के परिजनों के साथ खड़े रहेंगे : मुख्यमंत्री 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : पाकिस्तानी सेना की तरफ से जम्मू कश्मीर में राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में हो रही भारी गोलाबारी में गोलाबारी में देहरादून के राझावाला (सहसपुर) निवासी लांस नायक संदीप थापा शहीद हो गया है। । संदीप थापा जम्मू-कश्मीर राजौरी के नौशेरा सेक्टर में लांस नायक के पद पर तैनात थे। सीमा पर तवान के बीच भी संदीप डटे रहे और देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर गए। उनके शहीद होने की खबर से पूरा परिवार सदमे में है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जम्मू कश्मीर में शहीद हुए लांसनायक संदीप थापा की शहादत पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति एवं दुःख की इस घड़ी में उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शहीद के परिजनों को हर संभव मदद की जायेगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि हम सब हर समय शहीद के परिजनों के साथ खड़े रहेंगे।

सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया कि शनिवार सुबह 6.30 बजे से पाक की ओर से राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में भारी गोलाबारी जारी है। इसका मुंहतोड़ जवाब देते हुए भारतीय सेना भी जवाबी कार्रवाई कर रही है। भारतीय सेना का एक जवान संदीप थापा घायल हो गया। उन्होंने बताया घायल जवान को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान वह शहीद हो गया। रविवार को सैन्य सम्मान के साथ उनका पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचाया जाएगा। सेना के प्रवक्ता से मिली जानकारी के अनुसार शहीद हुए जवान लांस नायक संदीप थापा 35 साल के थे और पिछले 15 साल से भारतीय सेना में देश की सेवा कर रहे थे। संदीप का परिवार देहरादून में रहता है। 

उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेम अग्रवाल ने दी श्रद्धांजलि

दरअसल, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखला गया है। वह अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहा है। वह सीमा पर लगातार सीजफायर कर उल्लंघन कर रहा है।

उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने देहरादून के संदीप थापा की शहादत पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने जवान को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शहीद के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। उत्तराखंड के वीर शहीद ने देश की अखंडता एवं सुरक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगाई है। इसके लिए समूचा राष्ट्र संदीप थापा के प्रति कृतज्ञ रहेगा। शहीद के इस बलिदान को प्रदेश और देश के लोग हमेशा याद रखेंगे।

Advertisements
Previous articleनकाब हटा तो सामने आया असली सच!
Next articleस्पिक मैकै सम्मेलन के दूसरे दिन दीं शानदार प्रस्तुतियां
डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : देवभूमि मीडिया.कॉम हर पक्ष के विचारों और नज़रिए को अपने यहां समाहित करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह जरूरी नहीं है कि हम यहां प्रकाशित सभी विचारों से सहमत हों। लेकिन हम सबकी अभिव्यक्ति की आज़ादी के अधिकार का समर्थन करते हैं। ऐसे स्वतंत्र लेखक,ब्लॉगर और स्तंभकार जो देवभूमि मीडिया.कॉम के कर्मचारी नहीं हैं, उनके लेख, सूचनाएं या उनके द्वारा व्यक्त किया गया विचार उनका निजी है, यह देवभूमि मीडिया.कॉम का नज़रिया नहीं है और नहीं कहा जा सकता है। ऐसी किसी चीज की जवाबदेही या उत्तरदायित्व देवभूमि मीडिया.कॉम की नहीं होगी । धन्यवाद !