उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 72 नये केस, अब तक संख्या 244 हो गई

1
498

उत्तराखंड में महाराष्ट्र से ट्रेन से हरिद्वार और फिर वहां से बस से नैनीताल पहुंचे 55 लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया

एम्स में हुई जांच में आठ लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, इनमें एम्स की दो नर्सिंग छात्राएं भी शामिल

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

उत्तराखंड में महाराष्ट्र से ट्रेन से हरिद्वार और फिर वहां से बस से नैनीताल जिला पहुंचे 55 लोगों सहित राज्य में कोरोना संक्रमण के 72 नये केस मिले हैं। रुद्रप्रयाग जिला में तीन, ऊधमसिंह नगर जिला में तीन तथा पौड़ी गढ़वाल जिला में दो तथा हरिद्वार जिला में एक नया केस मिला है। वहीं देहरादून जिला स्थित एम्स ऋषिकेश में हुए कोविड-19 परीक्षण में आठ लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। उत्तराखंड में अब तक कोरोना संक्रमित रोगियों का आंकड़ा 244 पहुंच गया है।
स्वास्थ्य विभाग की देर शाम मिली रिपोर्ट के अनुसार राज्य में 72 नये कोरोना संक्रमित रोगी मिले हैं। जबकि दोपहर को जारी बुलेटिन में 19 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने की जानकारी दी गई थी। शनिवार को कुल मिलाकर 91 लोगों में कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट आई है। 
इनमें एक साथ 55 रोगी नैनीताल में मिले हैं। ये सभी महाराष्ट्र से आई ट्रेन से पहले हरिद्वार पहुंचे थे और फिर हरिद्वार से बस से सीधे हल्द्वानी गए। देर शाम पॉजिटिव पाए गए सभी 72 लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री है।  

उत्तराखंड में कोविड-19 अपडेट 23 मई,2020 रात आठ बजे तक

एम्स ऋषिकेश में हुए कोविड-19 परीक्षण में आठ लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। इनके संबंध में राज्य सरकार की नोडल एजेंसी को रिपोर्ट कर दी गई है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि इन सभी आठ लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री रही है। इनमें छह उत्तराखंड के प्रवासी हैं, जबकि दो एम्स के स्टूडेंट्स हैं। 
वहीं आज दोपहर में मिली रिपोर्ट के अनुसार कोरोना संक्रमण के 20 नये मामले सामने आए थे। इनसें से सात मामले चंपावत जिले के हैं। उत्तराखंड में अब तक कोरोना संक्रमण के 181 केस हो गए हैं। 
उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना पीड़ित लोगों में अधिकतर बाहर से आ रहे प्रवासी हैं। एम्स ऋषिकेश के जनसंपर्क विभाग के अनुसार, एम्स में हुई जांच में आठ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ये सभी लोग 21 मई को ऋषिकेश पहुंचे थे।
इनमें घाट चमोली निवासी सात वर्षीय बच्चा, 33 वर्षीय व्यक्ति तथा 28 साल का उसका एक अन्य साथी हाल में दिल्ली से लौटे थे। इन सभी को घाट, चमोली में क्वारान्टाइन किया गया था। इनकी 21 मई को एम्स में कोविड-19 जांच कराई गई थी, जो पॉजिटिव आई है।
इनके अलावा एम्स नर्सिंग की दो छात्राएं, जो दिल्ली से टैक्सी से एक साथ 22 मई को एम्स ऋषिकेश आई थीं। उनकी उसी दिन ओपीडी में कोविड जांच की गई, जिसमें वह दोनों पॉजिटिव पाई गईं। इनमें से एक छात्रा चुरू, राजस्थान से अपने माता- पिता के साथ दिल्ली तक आई थी। दिल्ली से दोनों टैक्सी से एक साथ ऋषिकेश आईं। राजस्थान तथा दिल्ली में संबंधित अधिकारियों को सूचना दे दी गई है। टैक्सी चालक की रिपोर्ट भी भेज दी गई है।
इनके अलावा विस्थापित पशुलोक ऋषिकेश निवासी 24 और 23 वर्षीय दो युवक, जो बीते 21 मई को मुंबई से लौटे हैं।  यहां सीमा डेंटल कॉलेज में दोनों को क्वारान्टाइन किया गया था। 21 मई को इनकी कोविड रिपोर्ट भी पॉजिटिव पाई गई है। एक अन्य लक्ष्मणझूला ऋषिकेश निवासी 28 वर्षीय युवक, जो 20 मई को गुडगांव से ऋषिकेश लौटा है। इसे हरिद्वार रोड स्थित ज्योति स्पेशल सेंटर में क्वारान्टाइन किया गया था। 21 मई को ओपीडी जांच में इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इन सभी पॉजिटिव मामलों के संबंध में राज्य सरकार को अवगत करा दिया है।
 स्वास्थ्य विभाग के आज दोपहर को जारी बुलेटिन के अनुसार, आज चंपावत जिले में सात, अल्मोड़ा में तीन, देहरादून में दो, हरिद्वार में एक, नैनीताल में दो, पिथौरागढ़ में दो, उत्तरकाशी में तीन मामले कोरोना पॉजीटिव पाए गए।  इनकी आयु 22 से लेकर 54 साल तक है।