उत्तराखंड में शुक्रवार को सात कोरोना संक्रमित मिले, 153 पहुंच गई संख्या

1
437

शुक्रवार को मिले कोरोना संक्रमित सात रोगियों में एम्स ऋषिकेश में भर्ती हरिद्वार जिले का सात वर्षीय बच्चा भी शामिल

सात में से पांच दिल्ली और मुंबई व नई दिल्ली से यात्रा करके उत्तराखंड पहुंचे हैं

देवभूमि मीडिया ब्यूरो
देहरादून। उत्तराखंड में शुक्रवार देर शाम जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार दो और कोरोना संक्रमित रोगी मिले। 20 और 22 साल के ये युवक हरिद्वार जिला से हैं। इनमें एक हरिद्वार जिला के लक्सर का रहने वाला है, जबकि दूसरा युवक मुंबई से हरिद्वार पहुंचा है।
शुक्रवार को देर शाम तक राज्य में सात नये कोरोना संक्रमित रोगी मिले। वहीं आज दोपहर को जारी बुलेटिन में पांच लोगों के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिली थी। इनमें से तीन लोग एम्स ऋषिकेश में हुई जांच में पॉजिटिव पाए गए तथा दो लोग ऊधम सिंह नगर जिला से हैं। एम्स में भर्ती हरिद्वार जिले के एक बच्चे तथा ओपीडी में की गई जांच में ऋषिकेश क्षेत्र निवासी महिला सहित दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। इनमें से बच्चे को छोड़कर अन्य चार लोग मुंबई व दिल्ली से यात्रा करके उत्तराखंड पहुंचे हैं। 
उत्तराखंड में पांच नये मरीज मिलने पर अभी तक कोरोना संक्रमण के 153 मामले हो गए हैं, जबकि 56 लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं।
एम्स ऋषिकेश में शुक्रवार को तीन मरीजों की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एम्स  के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि एम्स में शुक्रवार को तीन मरीजों की जांच रिपोर्ट  पॉजिटिव पाई गई है। इनका सैंपल 20 मई बुधवार को लिया गया था। उन्होंने बताया कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों में 30 वर्षीया महिला बैराज कॉलोनी वीरभद्र, ऋषिकेश की निवासी हैं तथा दो अन्य मरीजों में 52 वर्षीय व्यक्ति सुमन विहार, बापूग्राम, ऋषिकेश निवासी तथा सात वर्षीय बच्चा लक्सर, हरिद्वार के रहने वाले हैं।  
उन्होंने बताया कि यह महिला 13 मई को दिल्ली से ऋषिकेश लौटी थीं, जिनको होम क्वारान्टाइन किया गया था। स्वास्थ्य में गड़बड़ी होने पर महिला 20 मई को एम्स ओपीडी में रुटीन चेकअप के लिए आई थीं। जांच में उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।
22 मई 2020 को कोविड-19 का बुलेटिन
उन्होंने बताया कि बापूग्राम निवासी व्यक्ति 9 मई को मुंबई से अपने घर आया था, जिसे प्रशासन ने सीमा डेंटल कॉलेज परिसर में क्ववारान्टाइन किया था। जबकि सात वर्षीय लक्सर हरिद्वार निवासी बच्चा थैलीसीमिया की बीमारी से पीड़ित है, जो बीते बुधवार को एम्स में उपचार के लिए आया था। कोविड-19 का सैंपल लेने के बाद इसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि इस बच्चे की 28 दिन से कोई ट्रैवल हिस्ट्री सामने नहीं आई है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में स्टेट सर्विलांस अफसर को सूचना दी गई है।