• बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्‍टाचार, पंचायत एक्ट पर धरना  

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

तो पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत उपेक्षा से हुए खफा ?

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड की बीजेपी सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। स्थाई राजधानी गैरसैंण में पूर्कीववर्ती सरकारों द्वारा जमीन खरीदना और बेचने पर लगाई गयी रोक को प्रदेश सरकार द्वारा खुली छूट देना समझ से परे है।

वहीं बीच अचानक हरीश रावत नाराज होकर बीच धरने से उठ कर चले गए। जिस वजह से हरीश समर्थकों में नाराजगी है। समर्थकों ने वरिष्ठ नेता हरदा की उपेक्षा का प्रदेश संगठन पर आरोप लगाया है।

देहरादून । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि पेट्रोल डीजल के बढ़ते दाम, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्‍टाचार, पंचायत एक्ट में मनमानी, बिगड़ती कानून व्यवस्था जैसे अन्‍य मुद्दों को लेकर प्रदेशभर से कांग्रेस कार्यकर्ता गांधी पार्क में धरना दिया। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि महंगाई, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों, गैरसैंण में भूमि खरीद पर लगी रोक हटाने, पंचायती राज एक्ट के विरोध, बेरोजगारी, आंदोलनकारियों पर दर्ज मुकदमें वापस लेने, कानून-व्यवस्था, भ्रष्टाचार और राफेल खरीद के मुद्दे पर आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बरसात को देखते हुए दूरदराज के कार्यकर्ताओं को इस धरना कार्यक्रम से छूट दी गई है। पार्टी के शेष नेता धरना स्थल पर उपस्थित रहेंगे।

इससे पूर्व  प्रदेश कांग्रेस ने महंगाई, भ्रष्टाचार व कानून-व्यवस्था समेत तमाम मुद्दों को लेकर केंद्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता कांग्रेस भवन में एकत्र हुए और जुलुस की शक्ल में घंटाघर होते हुए गांधी पार्क में पहुंचे और यहां पर धरने पर बैठकर नारेबाजी करने लगे।

उन्होंने कहा कि भाजपा को अब हर बात पर कांग्रेस के सिर ठीकरा फोड़ने की बजाए अपनी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी का प्रदर्शन लोकसभा चुनाव में अच्छा नहीं रहा लेकिन बाजपुर और श्रीनगर में जनता ने कांग्रेस प्रत्याशियों को जिताकर भाजपा सरकार के प्रति अपने आक्रोश को प्रकट किया है। कांग्रेस भी जनभावना के साथ चलते हुए प्रदेश सरकार को घेरेगी। सत्ता में आई तो गैरसैंण पर लेंगे ठोस निर्णय कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि गैरसैंण के मसले पर अब निर्णय लेने का समय आ गया है। कांग्रेस यदि सत्ता में आई तो वह गैरसैंण के मसले पर स्पष्ट निर्णय लेगी।

हालांकि कांग्रेस का क्या निर्णय के सवाल पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कोई साफ़ जवाब नहीं दे पाए ,लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि वह इस मसले को अब दूसरों पर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने इस दौरान पार्टी की अंदरूनी गुटबाजी पर नसीहत देते हुए कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी न करने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से पार्टी का नुकसान होता है और कार्यकर्ताओं को इससे बचना चाहिए।

उन्होंने लक्ष्मणझूला पुल बंद करने पर सरकार को घेरा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने ऋषिकेश का लक्ष्मणझूला पुल बंद किए जाने के मसले पर प्रदेश सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए सरकार को यह कदम नहीं उठाना चाहिए था। इससे लोगों को अकारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सरकार को जल्दबाजी में निर्णय लेने की बजाए इसके विकल्प की ठोस व्यवस्था करनी चाहिए थी।

इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, पूर्व विधायक गणेश गोदियाल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, सूर्यकांत धस्माना आदि मौजूद रहे।

Advertisements