उत्तराखंड के हर नागरिक की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है सरकारः मुख्यमंत्री

यूपी के मुख्यमंत्री से बात करके उत्तराखंड के लोगों को घर भेजा जा रहा है

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि लॉकडाउन की स्थिति में दिल्ली में फंसे उत्तराखंड के लगभग 300 निवासियों को घर भेजने की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री से बात करके उत्तराखंड के लोगों को उनके घर पर भेजने की व्यवस्था की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने गुरुवार को एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि सरकार उत्तराखंड के हर नागरिक की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। दिल्ली और अन्य स्थानों में फंसे नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है। मुख्यमंत्री ने बताया कि नौ महिलाएं  उत्तराखंड सदन में हैं तथा 40 लोग नोयडा के गेस्ट हाउस में रुके हैं।  वहीं 80 लोगों को उत्तर प्रदेश के गाजीपुर स्थित गेस्ट हाउस में ठहराया गया है। सभी नागरिकों को उत्तराखंड भेजने की व्यवस्था की जा रही है।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए राज्य में लोग लॉकडाउन की व्यवस्था का पालन कर रहे हैं। सुबह सात से दस बजे तक जरूरी सामान की खरीदारी के दौरान अव्यवस्थाओं की सूचना मिल रही है। प्रदेश मे लॉक डाउन का लगभग 60 फीसदी पालन हो रहा है। उम्मीद है कल से पूरी तरह से व्यवस्था बन जाएगी और प्रदेश की जनता अपने और अपनों के स्वास्थ्य को देखते हुए लॉक डाउन का पूरी तरह पालन करेगी।

मुख्यमंत्री रावत ने घर वापसी कर रहे लोगों से अपील की है कि वो लॉक डाउन और कोरोना वायरस से निपटने के उपायों का पालन करेंगे, ताकि बीमारी उनके घर तक न पहुंच सके। उन्होंने राज्यवासियों से लॉकडाउन की व्यवस्था को लागू करने में पुलिस और प्रशासन को सहयोग देने को कहा।