अशासकीय विद्यालय में नियुक्तियों के लिए रिश्वत लेने की शिकायत के चलते पहले भी शिक्षा मंत्री ने जगमोहन सोनी को किया था सस्पेंड

टीम ने सीईओ सोनी के सरकारी आवास की तलाशी  में मिले 1,93200 रुपये नकद

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

इन नंबरों में दर्ज कराएं भ्रष्टाचार की शिकायत

एसपी विजिलेंस ने बताया कि सतर्कता विभाग ने भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए टोल फ्री 18001806666 हेल्पलाइन की व्यवस्था की है। किसी अधिकारी अथवा कर्मचारी के भ्रष्टाचार की शिकायत नंबर 9456592300 तथा 05946246372 पर भी कर सकते हैं।

अल्मोड़ा : विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना के बिल वाउचर पास करने के एवज में रिश्वत लेते हुए अल्मोड़ा के मुख्य शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी को विजिलेंस टीम ने 15 हज़ार रुपयों की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि जगमोहन सोनी द्वारा राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तारीखेत अल्मोड़ा के शिक्षक नंदन सिंह परिहार से मध्यान्ह भोजन योजना के बिल वाउचर पास करने के एवज में रिश्वत की मांग रहे थे। जिसकी शिकायत शिक्षक द्वारा विजिलेंस हल्द्वानी से की थी।  

मिली जानकारी के मुताबिक विजिलेंस ने शिक्षक की शिकायत पर जांच के बाद यह कदम उठाया। विजिलेंस को जांच में आरोप सही पाए गए जिसके बाद विजिलेंस की ट्रैप टीम ने शिकायतकर्ता के साथ मिलकर जाल बिछाया और बुधवार अपराह्न मुख्य शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी को अल्मोड़ा को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। मामले में सोनी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सोनी के घर से भी 1.93 लाख रुपये की नगदी बरामद हुई। कमरे में नगद रुपया कहां से आया और क्यों रखा गया था कड़ी पूछताछ की जा रही। श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपित सीईओ के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है। घर की तलाशी लेने वाली टीम में इंस्पेक्टर अरुण कुमार, एसआई बलवीर सिंह सहित टीम के अन्य सदस्य शामिल थे। उधर निदेशक सतर्कता ने टीम को नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है। 

मामले में शिक्षक नंदन सिंह परिहार का कहना है कि उनके सभी कागजात पूरे थे, इसके बावजूद मुख्य शिक्षा अधिकारी उनसे रिश्वत की मांग कर रहे थे। गौरतलब हो कि पहले भी अशासकीय विद्यालय में नियुक्तियों के लिए रिश्वत लेने की शिकायत के चलते शिक्षा मंत्री ने जगमोहन सोनी को सस्पेंड किया था।