चारधाम यात्रा 2020ः धामों में दर्शनों के लिए तीन दिन में 1563 ई पास जारी

0
24140

थर्मल स्क्रीनिंग, सैनिटाइजेशन के बाद ही मंदिरों में तीर्थयात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम् प्रबंधन बोर्ड ने प्रदेश के लोगों के लिए चार धाम यात्रा का शुभारंभ कर दिया है। शुक्रवार को तीसरे दिन उत्तराखंड देवस्थानम् प्रबंधन बोर्ड की वेबसाइट www.badrinath-kedarnath.gov.in से 541 लोगों ने ई पास बुक कराए। तीन दिन में 1563 जारी हो चुके हैं। 
देवस्थानम् प्रबंधन बोर्ड के लिए मीडिया प्रकोष्ठ के अनुसार, शुक्रवार को श्री बदरीनाथ धाम के लिए  237, श्री केदारनाथ धाम के लिए 221, श्री गंगोत्री धाम के लिए 44 तथा श्री यमुनोत्री धाम के लिए 39 लोगों ने ई पास बुक कराए हैं।
बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमन रविनाथन ने बताया कि थर्मल स्क्रीनिंग, सैनिटाइजेशन के बाद ही मंदिरों में तीर्थयात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है। मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है। मंदिर में मूर्तियों को स्पर्श करना, प्रसाद वितरण करना मना है। घंटियों को पहले ही  कपड़ों से ढका गया है।
देवस्थानम बोर्ड के यात्रा मार्गों पर यात्री विश्राम गृहों को यात्रियों के आवासीय प्रयोजन के लिए खोला जा चुका है। तीर्थयात्रियों से अपेक्षा की जा रही है कि अति आवश्यक होने पर ही धामों में रुकें। यह कोशिश रहे कि दर्शन के बाद तीर्थयात्री निकटवर्ती स्टेशनों तक वापस आ जाएं।
प्रदेश सरकार का प्रयास है कि चारों धामों में धीरे-धीरे तीर्थयात्रियों की आमद हो, ताकि पर्यटन एवं तीर्थाटन को गति मिल सके।
अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी.सिंह ने बताया कि  देवस्थानम बोर्ड ने एक जुलाई से तीन जुलाई तक तीन दिन में 1563 ई पास जारी किए हैं। बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ.हरीश गौड़ ने बताया कि चार धाम में अब तक 1794 तीर्थयात्री दर्शन कर चुके हैं। शुक्रवार को श्री बदरीनाथ धाम में 185, श्री केदारनाथ धाम में 62, श्री गंगोत्री धाम में 37 तथा श्री यमुनोत्री धाम में छह तीर्थ यात्रियों ने दर्शन किए।