• निष्कासन नोटिस पर कार्रवाई के लिए 20 जुलाई का इंतजार

  • निष्कासन नोटिस की अवधि 20 जुलाई को हो रही है समाप्त 

  • चैंपियन को भी अपना पक्ष रखने को दिया गया है समय 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून: सोशल मीडिया पर वायरल हुए विधायक चैम्पियन का काउंटडाउन शुरू हो गया है विवादित वीडियो के मामले में अनुशासनहीनता के आरोप में घिरे चैम्पियन का भाजपा से निष्कासन के नोटिस पर पार्टी 20 जुलाई को कार्रवाई कर सकती है क्योंकि इसी दिन उन्हें दिए गए नोटिस की समय सीमा खत्म हो रही है।

रविवार को देहरादून पहुंचे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि भाजपा सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है और उसमें अनुशासनहीनता की किसी को भी इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा कि नैसर्गिक न्याय के सिद्धांत के चलते  चैंपियन को अपना पक्ष रखने को समय दिया गया है।

गौरतलब हो कि भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित चल रहे खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के हाल में सोशल मीडिया में वायरल हुए वीडियो को पार्टी के केंद्रीय और प्रांतीय नेतृत्व ने बेहद गंभीरता से लिया है। वायरल हुए वीडियो में चैंपियन असलहा लहराते हुए नाच रहे हैं। साथ ही उनके द्वारा राज्य को लेकर अभद्र टिप्पणी भी की गई है। इसे लेकर राज्यभर में उबाल है।

वहीं प्रदेश भाजपा ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए चैंपियन को पार्टी से निष्कासन का नोटिस भेजा है। इसका जवाब देने की अवधि 20 जुलाई को खत्म हो रही है। हालांकि, प्रदेश स्तर से पार्टी नेतृत्व द्वारा चैंपियन के निष्कासन की संस्तुति केंद्रीय नेतृत्व को की गई है, मगर चैंपियन को नोटिस दिए जाने के मद्देनजर इसमें तत्काल कार्रवाई को लेकर तकनीकी पेच भी फंस गया है। ऐसे में अब चैंपियन को भेजे गए नोटिस का जवाब आने अथवा न आने के मद्देनजर 20 जुलाई तक का इंतजार किया जा रहा है।

इस बीच रविवार को देहरादून पहुंचे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व नैनीताल से सांसद अजय भट्ट ने प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विधायक चैंपियन का जो वीडियो वायरल हुआ है, वह अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है। इसीलिए उन्हें निष्कासन का नोटिस भेजा गया है। उन्होंने खुलासा किया कि जिस दिन यह वीडियो वायरल हुआ, उसी दिन विधायक विवाद प्रकरण की जांच को पूर्व में गठित कमेटी से इस बारे में प्रारंभिक रिपोर्ट ले ली गई थी।

कार्रवाई के संबंध में पूछे जाने पर प्रदेश अध्यक्ष भट्ट ने कहा कि विधायक चैंपियन को अपना पक्ष रखने के लिए समय दिया गया है। उनका जवाब आने दीजिए। पार्टी के संविधान के अनुरूप मामले में कार्रवाई की जाएगी।

Advertisements