चार सदस्यीय कमेटी ने देशराज के प्रमाण पत्र को दी क्लीन चिट

भाजपा से निष्कासित विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के अलावा कई अन्य लोगों ने ही उठाए थे सवाल 

देवभूमि मीडिया  ब्यूरो 

देहरादून : भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल के जाति प्रमाण पत्र को लेकर शासन स्तर से गठित स्कूटनी कमेटी ने क्लीन चिट दे दी है। प्रमाण पत्र को सही बताते हुए कमेटी ने कहा कि इसे हासिल करने में विधायक ने किसी तरह का आपराधिक कृत्य नहीं किया है। विधायक देशराज कर्णवाल ने इसे सच्चाई की जीत बताया। उन्होंने कहा कि 14 साल से वह इस आरोप का सामना कर रहे थे।

विधायक देशराज कर्णवाल के जाति प्रमाणपत्र को लेकर भाजपा से निष्कासित विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के अलावा कई अन्य लोगों ने सवाल उठाए थे। एक व्यक्ति की ओर से चार माह पहले इस मामले में हाईकोर्ट में भी एक याचिका दायर की गई। हाईकोर्ट ने जिलाधिकारी हरिद्वार की अध्यक्षता में एक स्कूटनी कमेटी का गठन किया था।

आठ अगस्त को जिलाधिकारी ने यह कहते हुए शासन को रिपोर्ट भेज दी कि विधायक देशराज कर्णवाल के जाति प्रमाण पत्र का मामला स्कूटनी कमेटी के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है। इस पर 22 अगस्त को शासन ने अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश की अध्यक्षता में चार सदस्य कमेटी गठित कर दी। कमेटी में आइएएस अधिकारी सुशील कुमार, डॉ. राम बिलास यादव और एसएस वाल्दिया को शामिल किया गया।

इस कमेटी ने नौ सितंबर को जांच रिपोर्ट उच्च न्यायालय को भेज दी है। इसमें कहा गया है कि उत्तराखंड राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से पूर्व में भी इन शिकायतों को बलहीन मानते हुए निरस्त कर दिया था। जो साक्ष्य उपलब्ध कराए गए हैं, उसके आधार पर जाति प्रमाण पत्र सही है।

Advertisements

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.