• -हरिद्वार के एक्सप्लोर इंडिया डेस्टिनेशन ट्रेवल एजेंट के खिलाफ दर्ज हुआ मामला

  • – एजेंट तरूण कुमार के विरुद्ध धारा 420 में मुकदमा किया गया दर्ज 

  • -तीर्थयात्रियों से हवाई टिकटों के नाम पर लिये पैंसे, दी जान से मारने की धमकी 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

रुद्रप्रयाग । केदारघाटी में लगातार हेली टिकटों में धोखाधड़ी एवं कालाबाजारी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। केदारघाटी में एक के बाद एक घटनाएं सामने आ रही हैं। पुलिस ने पीड़ित यात्री की लिखित शिकायत पर धोखाधड़ी के आरोप में एक्सप्लोर इंडिया डेस्टिनेशन सप्त ऋषि मार्ग हरिद्वार के ट्रेवल एजेंट तरूण कुमार के विरुद्ध धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया है। 

दरअसल, दिल्ली से आए एडवोकेट रोहित चतुर्वेदी ने थाना गुप्तकाशी में आकर शिकायत दर्ज की कि उन्होंने अपने माता-पिता को दो धाम बद्रीनाथ-केदारनाथ यात्रा के लिए ऑनलाइन पैकेज के लिए कुल एक लाख दस हजार में ट्रैवल एजेंट तरुण कुमार के माध्यम से टिकट बुक कराई। एजेंट ने अपनी कंपनी का नाम एक्सप्लोर इंडिया डेस्टिनेशन सप्त ऋषि मार्ग, निकट शांतिकुंज गेट संख्या 3, भूपतवाला, हरिद्वार बताया। एडवांस के तौर पर 5 लोगों का पैकेज 79,000 दिया गया। इस पैकेज की शर्तों के हिसाब से रहने के लिए होटल एवं हैली टिकटों की व्यवस्था की जानी थी, लेकिन एजंेट की ओर से द्व पैकेज की शर्तों के अनुरूप न रहने की व्यवस्था की गई और न ही हेलीकाप्टर टिकट की। जब स्टाॅफ से वार्ता की गई तो इनके द्वारा अपने अन्य स्टाॅफ का नंबर दिया गया और उसने भी ब्लैक में टिकट दिलाने की बात कही। गुप्तकाशी पहुंचकर आवेदक को कोई एजेंट नहीं मिला। पहले से दिए हुए नंबरों पर कॉल करने पर उनके द्वारा धमकी दी गई कि तुम लोग सही सलामत अपने घर नहीं जा पाओगे। पीड़ित की तहरीर के आधार पर थाना गुप्तकाशी में धारा 420 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया है। एसपी अजय सिंह ने बताया कि हेली टिकटों की धोखाधड़ी, अवैध खरीद-फरोख्त, कालाबाजारी के विरुद्ध रुद्रप्रयाग पुलिस का सख्त रुख जारी रहेगा, तथा ऐसा करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।