सर्च के दौरान आवास से नौ प्रॉपर्टी की डिटेल के अलावा कई लाख का सोना आदि हुआ बरामद : विजिलेंस 

गोपनीय जांच के बाद पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता के पास मिली अकूत संपत्ति

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

मामले में पुलिस उप महानिरीक्षक विजिलेंस, कृष्ण कुमार वीके का कहना है कि पेयजल निगम के निलंबित अधिशासी अभियंता सुजीत कुमार विकास के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मुकदमा दर्ज किया गया है। इनके आवास की तलाशी के दौरान कई प्रॉपर्टी की जानकारी मिली है। जिन्हें विवेचना में शामिल किया जाएगा। 

देहरादून : पेयजल निगम के निलंबित अधिशासी अभियंता सुजीत कुमार विकास आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजिलेंस ने जांच के बाद उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। शुक्रवार को पांच घंटे सर्च के दौरान इनके आवास से नौ प्रॉपर्टी की डिटेल के अलावा कई लाख का सोना आदि बरामद किया गया है। विजिलेंस के इंस्पेक्टर रामेश्वर सती मामले की जांच करेंगे।

विजिलेंस को लंबे समय से पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता (फिलहाल निलंबित) सुजीत कुमार विकास की संपत्ति को लेकर गोपनीय जांच कर रही थी। इसी बीच आय से अधिक संपत्ति उजागर होने पर विजिलेंस ने शासन से मुकदमा दर्ज करने की अनुमति मांगी थी। अनुमति के बाद विजिलेंस ने बृहस्पतिवार रात निलंबित अभियंता के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया।

शुक्रवार को  विजिलेंस ने सुजीत कुमार की डालनवाला स्थित कोठी में सर्च ऑपरेशन चलाया। पांच घंटे की तलाशी अभियान के दौरान विजिलेंस ने कई दस्तावेज कब्जे में लिए हैं। सूत्राें के मुताबिक सर्च में नौ प्रॉपर्टी के बारे में जानकारी मिली है। इनमें प्लाट, बिल्डिंग और फ्लैट भी शामिल हैं। बता दें कि इसी साल विजिलेंस ने वन विभाग के अधिकारी किशन चंद और आयुर्वेद विवि के निलंबित कुल सचिव मृत्युंजय मिश्रा के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मुकदमे दर्ज किए गए हैं। 

Advertisements