सभी प्रीमियम और मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन 31 मार्च की रात 12 बजे तक बंद रहेगा

टिकट के रिफंड की समयसीमा बढ़ाई

यात्रा की तारीख से 45 दिनों तक लिया जा सकता है टिकट जमा करने पर रिफंड 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने कोरोना वायरस के प्रकोप को ध्यान में रखते हुए सभी यात्री ट्रेन सेवाओं को 31 मार्च की रात 12 बजे तक रद्द कर दिया है। इनमें प्रीमियम ट्रेनें, मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें, यात्री ट्रेनें, उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो रेल, कोंकण रेलवे इत्‍यादि शामिल हैं। हालांकि, उपनगरीय ट्रेनों और कोलकाता मेट्रो रेल की अत्‍यंत सीमित सेवाएं 22 मार्च के रात 12 तक जारी रहेंगी

जिन-जिन ट्रेनों ने 22.03.2020 के सुबह 4 बजे से पहले ही अपनी यात्रा शुरू कर दी थीं, वे अपने-अपने गंतव्यों तक अवश्‍य ही जाएंगी। उन यात्रियों के लिए सफर के दौरान और फि‍र उनके गंतव्यों पर पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी, जिन्होंने अपनी यात्रा बाकायदा शुरू कर दी है।

देश के विभिन्न हिस्सों में आवश्यक वस्‍तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मालगाड़ियों की आवाजाही निरंतर जारी रहेगी।

यात्रियों के लिए इसे और भी अधिक सुविधाजनक बनाने के उद्देश्‍य से रद्द की गई सभी ट्रेनों के टिकटों का पूर्ण रिफंड 21 जून 2020 तक प्राप्‍त किया जा सकता है। ट्रेनों के रद्द होने से प्रभावित यात्रियों को परेशानी मुक्त एवं सुविधाजनक टिकट रिफंड के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी।