उत्तराखंड में कांग्रेस को बड़ा झटका !

नयी दिल्ली  : विधानसभा टिकट को लेकर पाला बदलने का सिलसिला शुरू हो चुका है। हरीश रावत सरकार में कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने सोमवार को  दिल्ली में अपने पुत्र के साथ भाजपा का दामन थाम लिया। दिल्ली में आर्य ने आज भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है।  राजनीतिक हलकों में  आर्य के इस कदम को उत्तराखंड कांग्रेस के लिए  बड़े  झटके के रूप में देखा जा रहा है।

पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और मौजूदा कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य कांग्रेस संगठन से नाराज बताए जा रहे थे . बताया जा रहा है कि कांग्रेस में यशपाल आर्य अपने अलावा बेटे के लिए भी टिकट की मांग कर रहे थे. इसके अलावा यशपाल आर्य उधमसिंहनगर की सभी 9 सीटों पर टिकट बांटने की जिम्मेदारी भी  चाह रहे थे।

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस में रहकर सीएम हरीश रावत से टिकट के लिए मोलभाव  करने के साथ ही यशपाल आर्य लगातार भाजपा के संपर्क में भी थे। अब जब भाजपा की पहली सूची आने वाली है तो यशपाल आर्य और उनके पुत्र संजीव आर्य भाजपा  की सदस्यता ले ली हैं।  दिल्ली में होने जा रही भाजपा की प्रेस कॉन्फ्रेंस में  इसकी घोषणा की गयी ।

गौरतलब है कि यशपाल आर्य कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहने के साथ ही कांग्रेस का बड़ा दलित चेहरा रहे हैं।  18 मार्च को जिस वक्त कांग्रेस के 9 विधायकों ने बगावत की थी, तब यशपाल आर्य के भी भाजपा में जाने की चर्चाएं थी. लेकिन बताया जाता है कि उस वक्त भाजपा की सरकार न बनते देख, हवा का रुख भांपते हुए यशपाल आर्य ने अपने कदम रोक लिए थे।

इसके अलावा यमुनोत्री से कांग्रेस नेता केदार रावत ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है. बताया जा रहा है कि भाजपा उन्हें यमुनोत्री से टिकट दे रही है। उधर कुमाऊं में पूर्व सीएम एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर भी भाजपा का दामन थाम रहे हैं. बताया जा रहा है कि रोहित को भाजपा लालकुंआ से टिकट दे सकती है।

Advertisements
Previous articleभाजपा में टिकटों की बन्दरबांट
Next articleट्रक से भिड़ंत में सूमो के उड़े परखच्चे, चार की मौत, 5 घायल
डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : देवभूमि मीडिया.कॉम हर पक्ष के विचारों और नज़रिए को अपने यहां समाहित करने के लिए प्रतिबद्ध है। यह जरूरी नहीं है कि हम यहां प्रकाशित सभी विचारों से सहमत हों। लेकिन हम सबकी अभिव्यक्ति की आज़ादी के अधिकार का समर्थन करते हैं। ऐसे स्वतंत्र लेखक,ब्लॉगर और स्तंभकार जो देवभूमि मीडिया.कॉम के कर्मचारी नहीं हैं, उनके लेख, सूचनाएं या उनके द्वारा व्यक्त किया गया विचार उनका निजी है, यह देवभूमि मीडिया.कॉम का नज़रिया नहीं है और नहीं कहा जा सकता है। ऐसी किसी चीज की जवाबदेही या उत्तरदायित्व देवभूमि मीडिया.कॉम का नहीं होगा। धन्यवाद !