पंचायत चुनाव में खरीद फरोख्त का मामला पहुंचा कोर्ट

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

नैनीताल :   चमोली जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर निर्वाचित रजनी भंडारी के पिछले कार्यकाल में उनके द्वारा किये भ्रष्टाचार व उनके पति राजेन्द्र भण्ड़ारी द्वारा पंचायत चुनाव में खरीद फरोख्त का मामला कोर्ट पहुंच गया है। माना जा रहा है कि अब शपथ ग्रहण से ठीक पहले चमोली जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भण्डारी की मुश्किलें बढ गई हैं। 

शुक्रवार को हाईकोर्ट की एकलपीठ ने पूरे मामले पर सुनवाई कर सभी पक्षकारों को दस्ती नोटिस जारी किया है 2 दिसंबर तक जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है।

वहीं नैनीताल उच्च न्यायालय ने फिलहाल शपथ रजनी भण्डारी की शपथ पर रोक लगाने से इंकार करते हुए कहा है कि मामले अब कोर्ट में है अगर आरोप सही पाए गये तो उस पर कोर्ट हस्तक्षेप करेगा। 

चमोली के जिला पंचायत सदस्य योगेन्द्र सेमवाल ने याचिका दाखिल कर कहा है कि रजनी भण्डारी के पूर्व कार्यकाल  में नंदा राजजात यात्रा में भारी वित्तिय अनिमित्ताएं सामने आयी थी जिसमें गड़बडियां तो पाई गई और मगर सरकार ने आज तक पूरे मामले पर कोई कार्रवाई नहीं की है। 

याचिका में उनको शपथ से रोकने की मांग उठाते हुए कहा है कि उनके पति राजेन्द्र भण्ड़ारी खरिद फरोख्त में शामिल रहे हैं जिसका पूरा वीडियो व आडियों रिकार्ड़ है मगर पुलिस और राज्य निर्वाचन आयोग ने कोई कार्रवाई उन पर नहीं की है।

याचिका में रजनी भण्डारी द्वारा लिये जा रहे शपथ को असंवैधानिक करार देने की मांग व उस पर रोक लगाने की मांग कोर्ट से की गई है।

Advertisements