इगास पर्व पर राज्य सभा सांसद के गांव पहुंचे संबित पात्रा 

घोस्ट विलेज को आबाद करने की बलूनी की मुहिम को आगे बढ़ाया जाएगा : डॉ. संबित 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

पौड़ी । पलायन से जूझ रहे पहाड़ में परंपराओं से जोड़कर रिवर्स पलायन की कवायद के बीच भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और उत्तराखंड के विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल पौड़ी जिले के नकोट गांव पहुंचे। यहां उन्होंने ग्रामीणों के साथ दीपावली के 11 दिन बाद पड़ने वाला पर्व इगास(बूढी दीपावली) मनाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा, परंपराओं को बढ़ावा देकर ही पहाड़ों में रिवर्स पलायन की कल्पना को साकार किया जा सकता है। नकोट राज्य सभा सदस्य अनिल बलूनी का गांव है।

दरअसल, इन दिनों सांसद अनिल बलूनी बीमार हैं और स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। ऐसे में भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल अनिल बलूनी के प्रतिनिधि के तौर पर इगास मानने नकोट पहुंचे। दोनों नेता दोपहर करीब 12 बजे गांव पहुंचे तो ग्रामीणों ने उनका परंपरागत तरीके से भव्य स्वागत किया। सांसद बलूनी के घर पर दोनों नेताओं ने उनकी चाची सुलोचना देवी से मुलाकात भी की। इसके बाद गो पूजा की गई और चंद्रबदनी मंदिर में भी पूजा-अर्चना की गई। पारंपरिक नृत्य देख दोनों नेता अभिभूत हो गए।

राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी के नकोट गांव पहुंचकर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने बलूनी की चाची सुलोचना देवी, परिजनों, शिक्षक व ग्रामीणों से मुलाकात कर उनकी कुलशक्षेम ली। पात्रा ने कहा कि ‘बलूनी के अभियान ने पूरे देश को इगास के महत्व से रूबरू कराया है। मैं उड़ीसा का रहने वाला हूं, मुझे उत्तराखंड की पावन धरती पर आने का मौका मिला है’।

बलूनी के खराब स्वास्थ्य के सवाल पर उन्होंने बताया कि उनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार आ रहा है। वे उनके परिजनों व देश को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि वह अगली इगास अपने गांव में मनाएंगे। उस क्षण वे भी गांव में ही मौजूद रहेंगे। पात्रा ने कहा कि घोस्ट विलेज को आबाद करने की उनकी मुहिम को आगे बढ़ाया जाएगा। पहाड़ से हो रहे पलायन के सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की कौशल विकास योजना के तहत पहाड़ों में पलायन पर अंकुश लगेगा।  

संबित पात्रा ने कहा कि बलूनी स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं और जल्द ही गांव लौटेंगे। उन्होंने कहा कि परंपराओं को बढ़ावा देकर ही पहाड़ों में रिवर्स पलायन की कल्पना को साकार किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुहिम ‘कौशल विकास’ पलायन पर अंकुश में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। इससे लोगों को गांव के आसपास ही रोजगार मिलेगा और उन्हें पलायन नहीं करना पड़ेगा।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि इगास पर्व पहाड़ की सांस्कृतिक धरोहर भी है। उन्होने सभी को पर्व की शुभकामनाएं भी दी। कार्यक्रम में क्षेत्रीय विधायक मुकेश कोली, निर्वतमान ब्लाक प्रमुख सुनील लिंगवाल, जिला पंचायत सदस्य मुकेश बिष्ट , युवा मोर्चे के नेता  विपिन कैंथोला, सतीश लखेड़ा आदि भी उपस्थित थे।

Advertisements