सल्ट विधानसभा उप चुनाव के लिए भाजपा ने हाईकमान को भेजे छह दावेदारों के नाम

0
426

विधानसभा उप चुनाव भाजपा का लिटमस टेस्ट,जिसका प्रभाव आगामी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों पर पड़ेगा : कांग्रेस 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून : सल्ट (अल्मोड़ा) विधान सभा उप चुनाव के लिए भाजपा ने छह प्रत्याशियों के नामों का पैनल बनाकर पार्टी आलाकमान को भेज दिया है। अब केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड ही नामों पर अंतिम रूप से विचार कर एक नाम फाइनल करेगा। 
शनिवार को भाजपा कोर कमेटी की बैठक में दावेदारों के नाम पर चर्चा के बाद पैनल तैयार किया गया। पैनल में दिवंगत विधायक सुरेंद्र जीना के भाई महेश जीना के साथ ही दर्जाधारी राज्यमंत्री दिनेश मेहरा, काशीपुर के डा.यशपाल रावत, नोएडा के व्यवसायी गिरीश कोटनाला, वरिष्ठ कार्यकर्ता प्रताप रावत, और पूर्व ब्लाक प्रमुख राधा रमण के नाम शामिल बताए गए हैं।
भाजपा के प्रदेशअध्यक्ष मदन कौशिक ने बताया कि रविवार को सभी छह नामों के पैनल को हाईकमान को भेज दिया है। अब केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड प्रत्याशी चयन पर अंतिम फैसला लेगी। कोर कमेटी के ज्यादात्तर सदस्य दिवंगत पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के भाई महेश जीना को प्रत्याशी बनाने के पक्ष में हैं, ताकि पार्टी को सहानुभूति का फायदा मिल सके। बैठक में भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सांसद नैनीताल अजय भट्ट, अल्मोड़ा सांसद अजय टम्टा, प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत व प्रदेश महामंन्त्री कुलदीप कुमार उपस्थित रहे।
गौरतलब हो कि उप चुनाव के लिए 30 मार्च को नामांकन का आखिरी दिन है। उधर कांग्रेस से भी प्रत्याशियों की खोज शुर हो गयी है वह भाजपा को वॉकओवर देने को तैयार नहीं है।  कांग्रेस का मानना है कि यह चुनाव भाजपा का लिटमस टेस्ट होगा जिसका प्रभाव आगामी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों पर पड़ेगा। सल्ट उपचुनाव को लेकर  प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ,प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, उपनेता प्रतिपक्ष और पर्यवेक्षक सल्ट उपचुनाव करन महरा, प्रदेश उपाध्यक्ष और पर्यवेक्षक आर्येन्द्र शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक सल्ट रणजीत रावत, पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी सल्ट श्रीमती गंगा पंचौली  और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के युवा सदस्य सुमित हृदयेश ने  दिल्ली में एक अति महत्वपूर्ण बैठक की।