30अप्रैल प्रातः 4:30 पर खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट

0
524

तिलों के तेल पिरोने की तिथि भी 18 अप्रैल निश्चित

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून । बसंत पंचमी पर्व पर नरेंद्र नगर स्थित टिहरी नरेश के राज दरबार नरेंद्रनगर में बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की विधिवत घोषणा कर दी गई है. आगमी 30 अप्रैल को प्रातः 4:30 बजे ब्रह्ममुहूर्त में कपाट खोल दिए जाएंगे. कपाट खुलने की तिथि घोषित होने के साथ ही भगवान बद्रीविशाल के नित्य महा अभिषेक पूजा में प्रयुक्त होने वाले तिलों के तेल पिरोने की तिथि भी 18 अप्रैल निश्चित की गई है.

त्तराखंड के चारधाम में सुप्रसिद्द श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि बसंत पंचमी के मौके पर तय कर दी गयी है. होगी. टिहरी राजदरबार नरेन्द्रनगर में सुबह 9.30 बजे प्रात: से राज दरबार में कपाट खुलने की तिथि तय करने हेतु कार्यक्रम शुरू किया गया. जिसमें आगमी 30 अप्रैल को प्रातः 4:30 बजे ब्रह्ममुहूर्त में कपाट खोलने की घोषणा कर दी गयी. आपको बता दें कि श्री नृसिंह मंदिर में 26 जनवरी गाडूघड़ा पूजन के पश्चात श्री योग ध्यान बदरी मंदिर पांडुकेश्वर रवाना हुआ था.

राजमहल में आयोजित समारोह में श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, उपाध्यक्ष अशोक खत्री एवं मंदिर समिति सदस्यगणों सहित चार धाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ‌ममगाई‌ की उपस्थिति में महाराजा मनुजयेंद्र शाह ने कपाट खुलने की तिथि घोषित की. इस अवसर पर डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत पदाधिकारी गाडू घड़ा लेकर राजमहल पहुंचे. रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी सहित मंदिर समिति मुख्य कार्याधिकारी बी.डी. सिंह, अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, विशेष कार्याधिकारी जनसंपर्क एएस नेगी, कार्याधिकारी एन.पी.जमलोकी आदि मौजूद रहे.