विश्व शांति के लिए अनुष्ठान और तीर्थ पुरोहितों के कल्याण का संकल्प ले सरकार

0
623

पुरोहित समाज और ब्राह्मणों के समक्ष कोरोना काल में आ रही हैं आर्थिक कठिनाइयां

देवभूमि मीडिया ब्यूरो
हरिद्वार। अखिल भारतीय युवा तीर्थ पुरोहित महासभा के अध्यक्ष उज्ज्वल पंडित ने हरिद्वार सहित विभिन्न तीर्थस्थलों पर अनुष्ठान और संस्कार बंद होने की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान दिलाया। उन्होंने एक वीडियो संदेश के माध्यम से सनातन संस्कृति की रक्षा के ध्वजवाहक तीर्थ पुरोहितों और ब्राह्मणों की समस्याओं की ओर भी देखने की मांग की। कहा कि पुरोहित समाज और ब्राह्मणों के समक्ष आर्थिक कठिनाइयां आ रही हैं।
महासभा के अध्य़क्ष उज्ज्वल पंडित ने कहा कि सभी तीर्थ पुरोहित विश्व में कोरोना संक्रमण की समाप्ति तथा जगत के कल्याण की कामना ईश्वर से कर रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को सुझाव दिया कि पुरोहितों से अपने अपने घरों में ही कोरोना संक्रमण से विश्व की रक्षा के लिए अनुष्ठान कराने का आह्वान करें। मुख्यमंत्री रावत स्वयं अनुष्ठान का संकल्प लें। अनुष्ठान के लिए तीर्थ पुरोहितों और ब्राह्मणों को श्रद्धाभाव से दक्षिणा प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि हम सभी अनुष्ठान और कर्म के माध्यम से अपनी आर्थिक कठिनाइयों को दूर करना चाहते है।
महासभा के अध्य़क्ष उज्ज्वल पंडित ने कहा कि वर्तमान में सभी प्रकार के अभिषेक, कर्मकांड, संस्कार बंद हैं। हम आभारी हैं कि राज्य सरकार ने हरिद्वार में अस्थि विसर्जन की अनुमति दी है। कुछ ही राज्यों दिल्ली, पंजाब,चंडीगढ़ से लोग यहां आ पा रहे हैं। यूपी के कुछ जिलों ही से अस्थि विसर्जन के लिए लोग आ रहे हैं। हरिद्वार में देश विदेश के श्रद्धालुओं के तीर्थपुरोहित रहते हैं।
उन्होंने कहा कि पूजा अर्चना सहित विभिन्न प्रकार के संस्कार इन दिनों हरिद्वार में नहीं हो रहे हैं। सरकार को तीर्थपुरोहितों और ब्राह्मण समाज के सम्मान को बनाए रखते हुए उनके हितों के लिए विचार करना चाहिए। महासभा के अध्यक्ष उज्ज्वल पंडित ने बताया कि हाल ही मे ही उत्तराखंड के पुरोहित ने अमेरिका के राष्ट्रपति के आवास पर विश्व शांति की कामना के लिए अनुष्ठान किया। विश्व सनातन संस्कृति और अनुष्ठानों को स्वीकार कर रहा है।