लोगों को एड्स जैसी घातक बीमारियों के प्रति किया गया जागरुक

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

ऋषिकेश : विश्व एड्स दिवस के उपलक्ष्य में एम्स ऋषिकेश व लायंस क्लब राॅयल ऋषिकेश के संयुक्त तत्वावधान में नगर क्षेत्र में एड्स जनजागरुकता साइकिल यात्रा का आयोजन किया गया। जिसके जरिए लोगों को एड्स जैसी घातक बीमारियों के प्रति जागरुक किया गया।

विश्व एड्स दिवस के तहत मेरठ से एम्स ऋषिकेश के लिए साइकिल जनजागरण यात्रा पर निकले डा. अनिल नौसरान का संस्थान में पहुंचने पर एम्स के चिकित्सकों व लायंस क्लब रॉयल ऋषिकेश के सदस्यों ने स्वागत किया। इस दौरान संस्थान के गेट नंबर एक से संपूर्ण परिसर में साइकिल यात्रा निकाली गई। जिसमें संस्थान के चिकित्सक, एमबीबीएस व पीजी, पीएचडी स्टूडेंट्स व लायंस क्लब के सदस्य शामिल हुए। यात्रा आवासीय कॉलोनी व यूजी छात्रावास होते हुए मेडिकल कॉलेज स्थित मिनी ऑडिटोरियम में संपन्न हुई। 

इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि एड्स एक लाइलाज बीमारी है, मगर बचाव के तमाम तौर तरीकों से इस घातक बीमारी से सुरक्षित रहा जा सकता है। इस दौरान एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत ने फैकल्टी व स्टूडेंट्स को एम्स परिसर को प्रदूषण से बचाव व पर्यावरण संवर्धन के लिए कॉलेज आने के लिए साइकिल का उपयोग करने को प्रेरित किया। निदेशक एम्स ने समाज को एड्स जैसी जानलेवा बीमारी के प्रति जागरुक करने को मुहिम पर निकले डा. नौसरान का आभार जताया व उन्हें इसके लिए बधाई दी।                                                     

इस अवसर पर डा. अनिल नौसरान ने लोगों को एड्स के प्रति जागरुक करने के लिए व्याख्यान दिया और साइकिल चलाने से स्वस्थ रहने के फायदे बताए। उन्होंने बताया कि विवाह से पहले जिस तरह से लड़का व लड़की की कुंडलियां मिलाई जाती हैं, ठीक उसी तरह शादी से पहले मेडिकल कुंडली बनानी चाहिए, जिससे जीवन में असाध्य रोगों से बचाव हो सकता है। इस दौरान संस्थान की ओर से डा. नौसरान को स्मृति चिह्न व प्रशस्तिपत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।     

इस अवसर पर कार्यक्रम के संयोजक डा. बलराम जीओमर, डा. अनुभा अग्रवाल, डा. सुलेखा, ब्रिगेडियर डा. यूबी मिश्रा, डा. श्रीपर्णा बासू, डा. योगेंद्र, डा. सोनल, लायंस क्लब के अध्यक्ष लवीश अग्रवाल, क्लब के संयोजक अभिनव गोयल, राही कपाड़िया, धीरज मखीजा आदि मौजूद थे।

Advertisements