पहला श्रीमति लक्ष्मी मित्तल कैंसर जागरुकता सम्मान 

कैंसर जनजागरुकता मुहिम में उल्लेखनीय योगदान के लिए मिला सम्मान

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

रुड़की  : भारत विकास परिषद उत्तराखंड प्रांत के सम्मेलन में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी को कैंसर जनजागरुकता मुहिम में उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मान से नवाजा गया।

शनिवार को आईआईटी रुड़की के इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स सभागार में भारत विकास परिषद की ओर से प्रथम महिला सम्मेलन आयोजित किया गया। परिषद की रुड़की मुख्यशाखा, अविरल गंगा व संपर्क शाखा मंगलौर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सम्मेलन में प्रांत संरक्षक डा. सतेंद्र मित्तल ने इतिहास में उल्लिखित वीर महिलाओं के जीवनवृत्त पर प्रकाश डाला।

सम्मेलन में प्रांत द्वारा इस वर्ष से श्रीमति लक्ष्मी मित्तल कैंसर जागरुकता सम्मान की घोषणा की। समारोह में पूर्व काबीना मंत्री व राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विजय बड़थ्वाल व परिषद के प्रांतीय अध्यक्ष चंद्रगुप्त विक्रम ने स्तन कैंसर से जुड़ी सैकड़ों सफल सर्जरी व कैंसर के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शोध कार्य के लिए एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी को प्रथम लक्ष्मी मित्तल कैंसर जागरुकता सम्मान से सम्मानित किया।

इस अवसर पर समारोह के अति विशिष्ट अतिथि निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत जी ने कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के निर्मूल के लिए एम्स संस्थान में किए जा रहे शोधकार्य से जनमानस को अवगत कराया व आम लोगों से कैंसर जैसी घातक बीमारी के प्रति जागरुक रहने की अपील की।

निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत जी ने परिषद द्वारा प्रारंभ किए गए पुरस्कार की सराहना की व कहा कि यह सम्मान इस भयंकर बीमारी को लेकर युवा शोधकर्ताओं को और अधिक अनुसंधान के लिए प्रेरित करेगा। इस अवसर पर पुरस्कार चयन समिति के ​अध्यक्ष गोपाल कृष्ण मित्तल, अति​ वि​शिष्ट अतिथि व बाल संरक्षण आयोग उत्तराखंड की अध्यक्ष ऊषा नेगी, डा. सत्येंद्र मित्तल, परिषद के प्रांतीय उपाध्यक्ष बीपी गुप्ता, कार्यक्रम संचालन डा. संगीता सिंह, नीरू गुप्ता आदि मौजूद थे।