36 लोगों ने किया रक्तदान का महादान

स्वस्थ मनुष्य को जरुरतमंद लोगों हेतु करना चाहिए रक्तदान : प्रो रविकांत 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

ऋषिकेश : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश व उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ शाखा ऋषिकेश के तत्वावधान में नगर में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 36 लोगों ने महादान किया। शिविर में स्वैच्छिक रक्तदान के लिए महासंघ से जुड़े पदाधिकारियों व सदस्यों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। शिविर में लोगों को अमूल्य जीवन की रक्षा के लिए रक्तदान के लिए आगे आने को प्रेरित किया गया।

रविवार को एम्स ऋषिकेश की ओर से नगर के ग्रीन टू चिल रेस्टोरेंट में उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ ऋषिकेश शाखा के सहयोग से स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। जिसमें करीब 50 लोगों ने पंजीकरण कराया, जिनमें से 36 लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान किया। जीवन रक्षा से जुड़े रक्तदान जैसे अहम कार्य को लेकर अपने संदेश में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि किसी के जीवन की रक्षा के लिए किए गए दान से बढ़कर कोई दूसरा दान नहीं हो सकता, लिहाजा हमें किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को जीवनदान देने के लिए रक्तदान अवश्य करना चाहिए।

निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने कहा कि प्रत्येक स्वस्थ मनुष्य को समय समय पर जरुरतमंद लोगों की सहायता के लिए रक्तदान को आगे आना चाहिए। इसी उद्देश्य से एम्स संस्थान लोगों को रक्तदान के प्रति प्रेरित करने के उद्देश्य से राज्य के विभिन्न हिस्सों व दूसरे प्रदेशों में भी इस तरह के शिविरों का आयोजन कर रहा है, साथ ही इसके लिए दूसरी संस्थाओं को भी प्रेरित करने के साथ ही उन्हें सहयोग कर रहा है। जिससे समाज में रक्त की कमी को पूरा किया जा सके।

संस्थान की ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन व ब्लड बैंक विभागाध्यक्ष डा. गीता नेगी ने बताया कि एम्स संस्थान की ओर से ऋषिकेश व इसके समीपवर्ती क्षेत्रों में ही नहीं उत्तराखंड के सूदूरवर्ती जनपदों में भी लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से लगातार नियमिततौर पर स्वैच्छिक रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। जिससे जरूरतमंद लोगों को समय पर रक्त उपलब्ध कराकर अमूल्य जीवन का संरक्षण किया जा सके।

शिविर में संयोजक डा. सुशांत कुमार मीनिया,जूनियर रेजिडेंट डा.ईश्वर प्रसाद, डा. अश्विनी के. माेहन, चिकित्सकीय सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश चंद्र, तकनीकि सहायक जगदंबा प्रसाद, ओमप्रकाश नेगी आदि ने सहयोग किया। इस अवसर पर मुख्यअतिथि महासंघ के इंजीनियर यूएस महर, विशिष्ठ अतिथि अजय बैलवाल, रामसकल आर्य, एके मित्तल, पीके गुप्ता, शिविर के संयोजक मनोज कुमार शर्मा आदि मौजूद थे।

Advertisements