चीन में सामने आया कोरोना के बाद फ्लू का एक नया वायरस, ले सकता है महामारी का रूप

0
505

जीनोटाइप 4 (जी4) सूअरों में संक्रामक है और इसके मनुष्यों में फैलने का भी है डर

चीन पहला देश है जहां दिसंबर, 2019 में कोविड-19 का पहला मामला सामने आया

सूअरों से फैलने वाला एक इंफ्लूएंजा भी महामारी का रूप ले सकता : चीनी अनुसंधानकर्ता

बीजिंग : चीन का कहना है कि वह अपने देश के सूअरों में वैज्ञानिकों द्वारा पहचाने गए नए फ्लू को फैलने से रोकने के लिए हर संभव इंतजाम कर रहा है क्योंकि यह फ्लू महामारी का रूप ले सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी चीन को कड़ी निगरानी रखने और कोविड-19 की तरह महामारी का रूप लेने की क्षमता रखने वाली इस फ्लू को रोकने को कहा है।
जॉन हॉप्किंस विश्वविद्यालय के अनुसार, चीन पहला देश है जहां दिसंबर, 2019 में कोविड-19 का पहला मामला सामने आया था जो धीरे-धीरे पूरी दुनिया में फैल गया और अभी तक इस कोरोना वायरस से 10,424,992 लोग संक्रमित हुए हैं वहीं 509,706 लोग इस संक्रमण से मरे हैं। चीन में इससे अभी तक 83,531 लोग संक्रमित हुए हैं और 4,634 लोग की संक्रमण से मौत हुई है।
आधिकारिक मीडिया में मंगलवार (30 जून) को आई खबर के अनुसार, चीन के अनुसंधानकर्ता पहले ही चेतावनी जारी कर चुके हैं कि कोविड-19 महामारी के बाद सूअरों से फैलने वाला एक इंफ्लूएंजा भी महामारी का रूप ले सकता है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की खबर के अनुसार, चीन के कृषि विश्वविद्यालय, चीनी रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केन्द्र और अन्य प्रतिष्ठानों के वैज्ञानिकों की ओर से यह चेतावनी आई है।
इन वैज्ञानिकों ने पाया है कि जीनोटाइप 4 (जी4) सूअरों में संक्रामक है और इसके मनुष्यों में फैलने का भी डर है क्योंकि जी4 मनुष्यों की कोशिकाओं के साथ मिलने की क्षमता रखता है। सोमवार (29 जून) को इस फ्लू के संबंध में एक अध्ययन अमेरिकी जर्नल ‘पीएनएएस में प्रकाशित हुआ था।