घटिया सड़क निर्माण पर बुरी तरह नपे लोनिवि के एई और जेई

0
469

मुख्यमंत्री ने निर्देश पर दुगड्डा लोक निर्माण खंड के सहायक अभियंता अजीत सिंह व अवर सहायक अभियंता अनिल कुमार हुए निलंबित 

मुख्यमंत्री ने कहा लापरवाही और भ्रष्टाचार पर होगी कड़ी कार्रवाई

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून : If the people are aware of the government’s work being done around them, then they can not only become the eyes and ears of the government but can also bring the government corrupt and noxious officers behind the bars of the jail.
जनता यदि अपने आसपास किए जा रहे सरकारी कार्यों के प्रति जागरूक हों तो वह सरकार का आँख और कान ही नहीं बन सकते बल्कि सरकार भ्रष्ट और कामचोर अधिकारियों को जेल की सलाखों के पीछे तक भी पहुंचा सकते हैं। ऐसी ही एक सड़क के घटिया निर्माण कार्यों को लेकर जब एक जागरूक व्यक्ति ने मामले को सोशल मीडिया पर उठाया तो सरकार ने उसका संज्ञान लिया और घटिया निर्माण के लिए दोषी अधिकारियों को निलंबित करवा डाला। 

वहीं मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए दुगड्डा लोक निर्माण प्रांतीय खंड में लक्ष्मणझूला-कांडी-दुगड्डा-रथुवाढाब-धुमाकोट मोटर मार्ग के किमी 154-155 मे घटिया सड़क निर्माण के मामले में एई अजीत सिंह व जेई अनिल कुमार को सस्पेंड करने के निर्देश दिये थे। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच भी बैठा दी है। उन्होंने कङा संदेश देते हुए कहा कि भ्रष्टाचार और लापरवाही को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। राज्य सरकार स्वच्छ, पारदर्शी व ईमानदार प्रशासन के लिए प्रतिबद्ध है। जिस स्तर पर भी कमी पाई जाएगी, वहां सख्त से सख्त एक्शन लिया जाएगा।

मामला दुगड्डा लोक निर्माण खंड के अंतर्गत लैंसडौन विधानसभा क्षेत्र के तहत दुगड्डा- रथुवाढाब सड़क मार्ग का है जिसमें डामरीकरण कार्य में बहुत ही गंभीर अनियमितता बरती जा रही है। सड़क में मलेखान बैंड के समीप डामरीकरण किया जा रहा है।
स्थानीय एक जागरूक व्यक्ति देवेश आदमी ने यह वीडियो बनाया जिसमें उसने उसी सड़क पर खड़े होकर सड़क निर्माण में की जा रही अनियमितता को दिखाया है। वीडियो में सड़क पर पुराने डामरीकरण के ऊपर ही मिट्ठी हो हटाए बिना ऊपर से तारकोल डाला हुआ नज़र आ रहा है। इतना ही नहीं ताज़ा पड़ा यह डामर हल्के से हाथ से ही उखड़ा जा रहा है। वीडियो में देवेश बता रहा है कि यह रोड जयहरीखाल विकास खंड के बॉर्डर पर है। वीडियो में सीएम तीरथ रावत, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत व विधायक दलीप रावत का नाम लेकर घटिया डामरीकरण की पूरी कहानी बनाई गई है।