हरिद्वार जिले में सर्वाधिक 147 बलात्कार उधमसिंह नगर में 59 हत्या के अपराध

लूट के कुल 137 अपराधों में सर्वाधिक 38 देहरादून में हुए 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून । सूचना अधिकार केे अन्तर्गत पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ खुलासा
उत्तराखंड जैैसे शान्त राज्य से भी गंभीर अपराध बड़ी संख्या में होने लगे है और इसमें वृद्धि भी हो रही हैै। वर्ष 2019 में उत्तराखंड में कुल 2294 गंभीर अपराध हुये हैै जिसमें 547 बलात्कार, 186 हत्या, 15 डकैैती तथा 137 लूट के अपराध शामिल हैं। जबकि 2018 में 505 बलात्कार, 189 हत्या तथा 8 डकैती तथा 125 लूट ेके अपराध हुये थेे। उक्त खुलासा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन कोे उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ है।

काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन ने उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय के लोेक सूचना अधिकारी से वर्ष 2019 में उत्तराखंड में हुये जिलेवार गंभीर अपराधों की संख्या की सूचना मांगी थी।। इसके उत्तर में लोक सूचना अधिकारी/पुलिस उपमहानिरीक्षक (फायर/कार्मिक) पुलिस मुख्यालय ने अपनेे पत्रांक 554 दिनांक 14 फरवरी 2020 के साथ 2019 के गंभीर अपराध के आंकड़ों का विवरण उपलब्ध कराया है। इसमें सर्वाधिक 916 वाहन चोरी के अपराध, 547 बलात्कार, 386 गृह भेेदन (कूमल लगाकर चोरी) 186 हत्या, 137 लूट, 55 दहेज हत्या, 41 चेन लूट/स्नेचिंग, 15-15 डकैती व वाहन लूट, 2 फिरौती हेतु अपहरण के अपराध शामिल हैै।
जिलावार अपराधों में सर्वाधिक गंभीर अपराध उधमसिंह नगर जिले में 681, दूसरे स्थान पर हरिद्वार में 646 तीसरे स्थान पर देेहरादून में 507 अपराध हुये है जबकि सबसे कम गंभीर अपराध 7 रूद्र्रप्रयाग जिले में, दूसरेे स्थान पर 18 अल्मोड़ा तथा तीसरे स्थान पर 20 चमोली जिले में हुये हैै।
अन्य जिलों में नैैनीताल में 202, पिथौैरागढ़ में 36, बागेश्वर में 24, चम्पावत में 23, उत्तरकाशी में 29, टिहरी में 37, पौैड़ी में 45 अपराध हुये है। रेलवे केे अन्तर्गत जी.आर.पी. में रजिस्टर्ड 19 गंभीर अपराध हुये है।
बलात्कार के कुल 547 अपराधों में सर्वाधिक 147 हरिद्वार में, 129 देहरादून में तथा 117 उधमसिंह नगर जिले में हुये है।
अन्य जिलों में नैैनीताल में 50, अल्मोड़ा में 7, पिथौैरागढ़ में 13, बागेश्वर तथा चम्पावत में 10-10, उत्तरकाशी में 19, टिहरी में 18, चमोली में 6, रूद्रप्रयाग में 5, पौड़ी में 15 तथा रेलवे में 1 बलात्कार का अपराध हुआ हैै।
हत्या के कुल 186 अपराधों में सर्वाधिक 59 उधमसिंह नगर में, 50 हरिद्वार में, 26 नैनीताल जिले में हुये हैै। अन्य जिलों में अल्मोड़ा में 1, पिथौैरागढ़ में 9, बागेश्वर व चम्पावत मंे 3-3, टिहरी में 4, चमोली में 2, रूद्रप्रयाग में 1, पौैड़ी में 7 तथा देहरादून में 21 हत्या के अपराध शामिल है। रेलवे तथा उत्तरकाशी जिले में कोई हत्या का अपराध नहीं हुआ है।
दहेज हत्या के कुल 55 अपराधों में सर्वाधिक 15-15 अपराध उधमसिंह नगर तथा हरिद्वार में, 7 देहरादून, 5 नैैनीताल जिले में हुयेे हैै। अन्य जिलों में अल्मोड़, चम्पावत, चमोली तथा पौैड़ी जिलों में 1-1, उत्तरकाशी में 2, पिथौैरागढ़ में 3, बागेश्वर में 4 दहेज हत्या के अपराध हुयेे हैै। रेलवे के अतिरिक्त टिहरी व रूद्रप्रयाग जिले में कोई दहेज हत्या का अपराध नहीं हुआ हैै।

डकैती के कुल 15 अपराधों में सर्वाधिक 6 देहरादून, 4 हरिद्वार तथा 3 उधमसिंह नगर जिले में हुये है जबकि नैैनीताल व पौैड़ी जिले में 1-1 डकैती का अपराध हुआ है। अन्य जिले में तथा रेलवे में कोई डकैती का अपराध नहीं हुआ।

फिरौैती हेत अपहरण के प्रदेश में हुये 2 अपराध देहरादून जिले में हुये हैं। लूट के कुल 137 अपराधों में सर्वाधिक 38 देहरादून, 37 उधमसिंह नगर, 23 हरिद्वार में हुये है, अन्य जिलों में नैैनीताल मेें 19, बागेश्वर तथा पौैड़ी में 2-2, अल्मोड़ा, टिहरी व चमोली जिलों में 1-1 तथा रेलवे (जी आर.पी.) में 12 लूट के अपराध हुये हैै।