• गढवाल प्रांत का संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) 

  • 80 घोष वादकों को भी दिया जा रहा है प्रशिक्षण 

  • व्यवस्था और शिक्षण कार्य में लगे हैं 89 प्रशिक्षित स्वयंसेवक 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के उत्तराखंड में दो प्रशिक्षण शिविर चल रहे हैं। कुमाऊं प्रांत का संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) हल्द्वानी और गढवाल प्रांत का देहरादून महानगर के सोशल बलूनी पब्लिक स्कूल में संचालित हो रहा है। गढवाल प्रांत से 340 छात्र प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। 80 घोष वादकों को भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण वर्ग की व्यवस्था और शिक्षण कार्य में 89 प्रशिक्षित स्वयंसेवक लगे हुए हैं।

प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षण प्राप्त करने वालों से लेकर प्रशिक्षण देने वालों की कुल संख्या 509 है। सोमवार को प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे छात्रों ने पथ संचलन किया। घोष वादकों ने शानदार घोष वादन किया। प्रशिक्षण देने वाले प्रशिक्षक छात्रों को कदम ताल का अभ्यास करा रहे थे। छात्रों को शिविर में संघ के कुशल प्रशिक्षकों द्वारा अनुशासन का पाठ पढाया जा रहा है। संघ की पाठशाला में स्वयंसेवकों को शारीरिक मजबूती के लिए विभिन्न योगासनों का अभ्यास कराया जा रहा है। बौद्धिक सत्रों में नये स्वयंसेवक सामाजिक और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय ज्ञान से रूबरू हो रहे हैं। 

प्रतिदिन महानगर देहरादून से दोपहर और शाम के भोजन के लिए 4000 रोटियां अलग-अलग 400 परिवारों से आ रही हैं। रोटेशन में अलग-अलग परिवारों से भोजन आ रहा है ताकि समाज को शिविर की भागीदारी से जोडा जा सके। 9 जून, रविवार को मातृ हस्त भोजन का आयोजन किया गया। इसमें देहरादून महानगर के करीब 200 परिवार अपने-अपने घरों से भोजन बनाकर लाए और सभी ने साथ में बैठकर भोजन किया। 

सर्व व्यवस्था प्रमुख प्रांत सह व्यवस्था प्रमुख नीरज मित्तल, सह सर्व व्यवस्था प्रमुख  महानगर कार्यवाह विशाल जिंदल, महानगर प्रचार प्रमुख हिमांशु अग्रवाल, वर्ग कार्यवाह राजेंद्र जी, वर्ग पालक दिनेश जी, वर्ग कार्यवाह भगीरथ जी, गोपाल रोहेला, सुनील जी, जसपाल जी शिविर के कुशल संचालन में लगे हुए हैं।