कमलेश्वर महादेव मंदिर के महंत श्री 1008 महंत आशुतोष पुरी जी महाराज ने दिया आशीर्वाद

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

श्रीनगर गढ़वाल :  विश्व प्रसिद्ध कमलेश्वर महादेव मंदिर में देश भर से आये 250 से ज्यादा निसंतान जोड़ों ने श्रद्धा के साथ पूरी रात घी का दीप हाथ में लिये खड़े होकर भगवान शिव की आराधना करते रहे और संतान प्राप्ति कि मनोकामना की। ऐसे कई प्रमाण हैं कि जिन परिवारों में वर्षों से कोई संतान प्राप्ति नहीं हुई है वो वैकुण्ठ चतुर्दशी के दिन भगवान शिव की आराधना इस प्रकार से करते हैं तो उनकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है।

कमलेश्वर महादेव मंदिर के महंत श्री 1008 महंत आशुतोष पुरी जी महाराज के साथ ही शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी महाराज के शिष्य स्वामी मुकुंदानंद ब्रह्मचारी और स्वामी मुरारीस्वरूप ब्रह्मचारी ने दीप जलाकर मंदिर परिसर में खड़ दीया पूजन की शुरुआत वेदमंत्रों के साथ की।

चतुर्दशी के अवसर पर परिवार की सुख शांति की कामना को लेकर सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु विशेषकर महिलाओं ने कमलेश्वर महादेव मंदिर पहुंची और उन्होंने शिव की पूजा-अर्चना की। शाम होते-होते इन श्रद्धालु महिलाओं की संख्या में भी काफी बढ़ोत्तरी होती रही। सायं तक संतान की कामना को लेकर लगभग 250 महिलाओं ने रविवार सायं से श्रीनगर के प्राचीन कमलेश्वर महादेव मंदिर में रात्रिभर खड़े रहते हुए जलते दीपक के साथ भगवान शिव की आराधना की।

महंत श्री आशुतोष पुरी जी महाराज ने प्रात: चार बजे विशेष पूजा-अर्चना की। जिसके बाद खड़ दीया पूजन में भाग लेने वाली महिलाओं ने अलकनंदा के शीतल ताल में स्नान कर वापस पहुंचकर पूजा अर्चना शुरू की इस दौरान मंदिर के श्री  महंत हंत आशुतोष पुरी जी महाराज से श्रीफल प्राप्त किया।

Advertisements